बिहार में गंडक का तटबंध टूटा

Image caption बिहार के गोपालगंज में गंडक नदी का मुख्य तटबंध से बहता पानी

बिहार के गोपालगंज ज़िले में गंडक नदी का मुख्य तटबंध क़रीब 10 मीटर की चौड़ाई में टूट गया है.

राज्य के बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी ग्रामीण इलाक़े में बाढ़ का पानी नहीं फैला है.

अधिकारियों के अनुसार टूटे तटबंध से निकले जल प्रवाह को सड़क पर बनाए गए सुरक्षात्मक बाँध ने फ़िलहाल आगे बढ़ने से रोक दिया है.

गोपालगंज ज़िले में गंडक नदी का ‘सारण’ नामक मुख्य तटबंध, बतरदेह गाँव के पास गुरुवार दोपहर टूट गया.

हालांकि तटबंध के टूटे हिस्से से जो पानी निकला है वह बगल के सुरक्षात्मक बाँध के दायरे में घिरकर स्थिर हो गया है.

यही कारण है कि गोपालगंज, छपरा और सिवान ज़िले के आठ प्रखंडों में एक लाख से भी अधिक की आबादी पर बाढ़ का संकट फ़िलहाल थम सा गया है.

पिछले पाँच दिनों से सारण तटबंध को टूटने से बचाने और इस ख़तरे की चपेट में आने वाले क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित जगह पहुँचाने में वहाँ का प्रशासन युद्धस्तर पर लगा हुआ था.

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग ने उस इलाक़े में राहत और बचाव कार्य के लिए नेशनल डिज़ास्टर रिस्पॉंस फ़ोर्स या एनडीआरएफ़ की आठ यूनिटों को तैनात किया है.

संबंधित समाचार