प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

क्या झंडा फहराना ही है राष्ट्रवाद की निशानी

26 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी की एकता यात्रा भारत के 12 राज्यों से होती हुई भारत प्रशासित राज्य जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर पहुंचेगी जहाँ लाल चौक पर भाजपा नेता तिरंगा फहराने की बात कर रहे है.

जम्मू-कश्मीर सरकार इस का कड़ा विरोध कर रही है और मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने कहा है की अगर भाजपा की इस कोशिश से प्रदेश में हालत बिगड़ सकती है.

आख़िर भाजपा इस कदम से क्या साबित करना चाहती है? क्या तिरंगा फहराने से ही आप राष्ट्रवादी या राष्ट्रविरोधी साबित होते हैं या ये एक राजनीतिक पार्टी का लचर प्रोपेगैंडा है.

ये ही था इस बार बीबीसी इंडिया बोल का विषय...