बेटी नहीं तो बहू कहां मिलेगी

मीडिया प्लेयर

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

वैकल्पिक मीडिया प्लेयर में सुनें/देखें

पिछले कई सालों में हरियाणा में बच्चियों की गिरती संख्या ने अब वहां बहुओं की कमी कर दी है. लिंग जांच कर भ्रूण हत्या और कम उम्र में ठीक से पालन पोषण नहीं किए जाने की वजह से पूरे राज्य में बच्चियों की संख्या कम होती गई है.

नतीजा ये कि 15 वर्ष से 44 वर्ष तक की आयु के पुरुषों में एक बड़ी संख्या अविवाहित है. एक ग़ैर-सरकारी संस्था के मुताबिक़ पिछले 10 सालों में ये आंकड़ा 40 से 50 फ़ीसदी तक बढ़ गया है.

कैसा है इन पुरुषों के साथ रहने वाली दूसरे राज्यों की महिलाओं का जीवन? जानने के लिए बीबीसी संवाददाता दिव्या आर्य पहुंची हरियाणा के भिवानी ज़िले के नंदगांव में.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.