केबीसी के सफ़र पर अमिताभ के दिल की बात- दूसरा हिस्सा

मीडिया प्लेयर

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

वैकल्पिक मीडिया प्लेयर में सुनें/देखें

अमिताभ बच्चन ने केबीसी के अपने अब तक के 11 साल लंबे सफ़र के बारे में बीबीसी संवाददाता समरा फ़ातिमा से दिल खोल कर बातें की. उन्होंने बताया कि जब छोटे-छोटे शहरों से आए ग़रीब तबके के लोग इस शो में पैसे जीतते हैं तो उन्हें ये बात काफ़ी प्रेरणादायक लगती है. अमिताभ ने ये भी बताया कि 11 साल पहले जब उन्होंने पहली बार केबीसी होस्ट करने का फ़ैसला किया था, तो उनके कई क़रीबी लोगों ने उन्हें ऐसा ना करने की सलाह दी थी. पेश है इस बातचीत का दूसरा हिस्सा.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.