प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

भारतीय बाज़ारों से क्यों दूर है स्कॉच?

विदेशी ब्रांड्स के लिए व्हिस्की के सबसे बड़े बाज़ार के रुप में पहचना बनाने के बावजूद भारत में असली स्कॉच के बजाय रॉयल स्टैग, बैगपाइपर और मैक्डाव्ल्स जैसे स्कॉटिश नामों वाली भारतीय व्हिस्की ही ज़्यादा प्रचलित है.

इसकी वजह लोगों की पसंद नहीं बल्कि भारत सरकार की ओर से विदेशी व्हिसकी पर लगाया गया 150 फीसदी टैक्स है जिसने भारतीयों के लिए विदेशी शराब को कई गुना मह कर दिया है.

विदेशी व्हिसकी उद्दोग और भारतीय ग्राहकों की उम्मीदें अब फ़रवरी में होने वाली यूरोपीय संघ और भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बैठक पर टिकी हैं.