प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'फ़्रांस में मुसलमानों के प्रति संदेह'

दक्षिणी फ्रांस में अल कायदा से प्रेरित होकर सात लोगों को मौत के घाट उतारने वाले संदिग्ध हमलावर की मौत हो गई है. 23 वर्षीय मोहम्मद मेराह नाम के इस हमलावर की उस वक्त मौत हो गई जब टूलूज शहर में पुलिस कमांडोज ने उसके अपार्टमेंट को घेर लिया.

दोनों ओर से काफी देर तक गोलीबारी होती रही उसके बाद मेराह खिड़की से बाहर कूद गया. लेकिन उसने फायरिंग बंद नहीं की. बाद में वो मृत पाया गया.

इस बीच, फ्रांस के राष्ट्रपति निकोला सर्कोजी ने कहा है कि इस बात की जांच चल रही है कि इस हमले में मेराह अकेले था या फिर उसके साथ और भी लोग थे. उन्होंने ये भी कहा कि इस हमलावर की वजह से फ्रांस में रहने वाले मुस्लिमों को किसी भी हालत में परेशान नहीं किया जाना चाहिए.

बीबीसी हिंदी संवाददाता दिव्या आर्य ने बात की पेरिस में द हिंदू अखबार की पत्रकार वैजू नारावणे से बात करके पूछा कि इस घटना का फ्रांस में रहने वाले मुसलमानों पर क्या कुछ असर हो सकता है क्या उनके लिए कोई खतरे की बात है?