प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'मजबतू ताकत बनकर उभर रहा है ब्रिक्स'

राजधानी दिल्ली में हुए एक दिन के ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में स्थानीय मुद्रा में कर्ज देने पर सहमति बनी.साथ ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उन राजनीतिक बाधाओं से बचने पर जोर दिया जिनकी वजह से वैश्विक ऊर्जा बाजार में अस्थिरता पैदा होती है जिससे व्यापार पर असर पड़ता है.

ब्रिक्स में शामिल देशों ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका ने संयुक्त विकास बैंक का भी प्रस्ताव दिया है.एक विश्लेषण बीबीसी हिंदी सेवा के संपादक अमित बरुआ से