प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'सही है बाहरी उद्योग संगठनों की आशंका'

सात अंतरराष्ट्रीय व्यापार संगठनों ने भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लिखे पत्र में नए टैक्स प्रस्ताव की आलोचना की है जिसके तहत 50 साल तक के कॉरपोरेट समझौतों की जांच की जा सकती है.

यह प्रस्ताव पिछले महीने पेश किए गए आम बजट का हिस्सा था. इन संगठनों ने चेतावनी दी है कि उनके साथ जुड़ी कंपनियां भारत में अपने उद्यमों पर पुनर्विचार कर सकती हैं.

प्रस्ताव पर भारतीय उद्योग एवं वाणिज्य महासंघ फ़िक्की के महासचिव डॉक्टर राजीव कुमार की राय-