शाओ लिन टेंपल का मार्शल आर्ट

 गुरुवार, 5 अप्रैल, 2012 को 10:31 IST तक के समाचार
  • चीन का शाओ लिन मंदिर ( शाओलिन टेंपल) मार्शल आर्ट का गढ़ माना जाता है.
  • मार्शल आर्ट के कई दांव पेंच इस शाओ लिन टेंपल में सिखाए जाते हैं.
  • अभ्यास कठिन होता है तभी तो मार्शल आर्ट के पारंगत यहीं से निकलते हैं.
  • आत्संयम और शारीरिक नियंत्रण की अनोखी कला है मार्शल आर्ट
  • ईंटों को हाथ से तोड़ना मानो इन लोगों का बाएं हाथ का खेल हो.
  • अभ्यास का मार्शल आर्ट में अत्यधिक महत्व माना जाता है.
  • शारीरिक व्यायाम के साथ साथ मानसिक व्यायाम पर भी जोर दिया जाता है
  • एक साथ कई बच्चे और बड़े मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग लेते हैं शाओ लिन टेंपल में
  • ध्यान नहीं तो सब बेकार. मानसिक शांति सबसे ज़रुरी

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.