ओलंपिक मशाल की प्रस्तावित 'यात्रा' पर एक नज़र

 बुधवार, 9 मई, 2012 को 18:09 IST तक के समाचार

ब्रिटेन में ओलंपिक मशाल की प्रस्तावित 'यात्रा' पर एक नज़र

  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    ग्रीस में प्रज्जवलित हुई ओलंपिक मशाल 18 मई 2012 को ब्रिटेन पहुंचने वाली है. इसके अगले ही दिन शुरु होगी ओलंपिक मशाल की 70 दिनों की यात्रा जिसमें वो ब्रिटेन के 1000 शहरों, गावों और कस्बों से गुजरेगी. इस दौरान करीब 8000 धावक इस मशाल को आगे लेकर जाएंगे.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    19 मई- ब्रिटेन में ओलंपिक मशाल का पहला दिन. लैंड्स एंड, कॉर्नवॉल में स्थानीय समयानुसार सुबह 7 बजे ओलंपिक की पहली मशाल को ओलंपिया से लाई गई ज्योति से प्रज्जवलित किया जाएगा.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    19 मई- इडेन प्रोजेक्ट, कॉर्नवॉल, इंग्लैंड. सेंट ऑस्टल के पास बनाए गए इस पार्क को साल 2000 में मिलेनियम सेलिब्रेशन के तहत बनाया गया था. इस पार्क को बनाने में चीन के एक खदान से लाए गई चीनी मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है ताकि लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता बढ़े.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    23 मई- 5वां दिन- बाथ, इंग्लैंड. अपने रोमन बाथ, थर्मी स्पा और यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट के मशहूर बाथ शहर में वास्तुकला का उत्कृष्ट उदाहरण देखने को मिलता है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    29 मई-11वां दिन- वेल्स का स्नोडोनिया नेशनल पार्क. समु्द्र तल से करीब 3,560 फीट उपर बसे माउंट स्नोडॉन की ये चोटी वेल्स और इंग्लैंड की सबसे उंची पहाड़ी है. इस चोटी पर ओलंपिक मशाल को एक स्नोडॉन माउंटेन ट्रेन में लालटेन में रखकर लाया जाएगा.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    31 मई-13वां दिन- जॉडरेल बैंक,चेशायर, इंग्लैंड. यहां के एस्ट्रोफिजिक्स सेंटर पर लगे 'द लॉवेल टेलिस्कोप' दुनिया के सबसे बड़े टेलिस्कोप में से एक है. इसे 1957 में बनाया गया था. इसका व्यास यानि डायामीटर 76.2 मीटर है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    1 जून, 14वां दिन-क्रॉसबाय बीच, इंग्लैंड. इस समुद्री तट के करीब दो मील के क्षेत्रफल में 100 मूर्तियां बनी हैं जो समुद्र के तट से सिर्फ आधे मील की दूरी पर बनाया गई है. एक मशाल धावक ओलंपिक मशाल के साथ इन मूर्तियों के बीच से गुजरेगा.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    2 जून- 15वां दिन-लिवरपुल, इंग्लैंड. अपने खूबसूरत वॉटरफ्रंट के कारण यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल किया गया ये शहर फुटबॉल क्लब बीटल्स और लिवरपूल के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    2 जून- 15वां दिन- आइज़ल ऑफ मैन, इंग्लैंड. यहां हर साल मई और जून के महीने में 'टी-टी' मोटर रेसिंग प्रतियोगिता आयोजित की जाती है. ओलंपिक मशाल का एक पड़ाव ये भी होगा.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    4 जून- 17वां दिन- जायंट्स कॉज़वे, उत्तरी आयरलैंड. ये उत्तरी आयरलैंड का एक महत्वपूर्ण स्थान है जहां 40 हज़ार से ज्यादा बसाल्ट चट्टानों का समूह एक दूसरे से मिला हुआ है. इस जगह को 1986 में देश का पहला वर्ल्ड हेरिटेज साइट घोषित किया गया था.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    6 जून- 19वां दिन- डबलिन, आयरलैंड. आयरलैंड की राजधानी डबलिन का इतिहास 1,000 साल पुराना है. एक छोटी से बस्ती से एक खूबसूरत राजधानी तक का रोचक इतिहास है, साहित्यकार ऑस्कर वाइल्ड के शहर डबलिन का.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    9 जून- 22वां दिन- इनवर्नेस, स्कॉटलैंड. ब्रिटेन के रमणीय शहरों में से एक, स्कॉटलैंड ब्रिटेन के पर्वतीय क्षेत्रों में बसा शहर है जो आमतौर पर यहां रहने वाले शर्मीले 'लॉच नेस मॉन्सटर' या 'नेस्सी' के लिए जाना जाता है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    12 जून- 26वां दिन- एडिनबर्ग, स्कॉटलैंड. एडिनबर्ग के प्रतिष्ठित और भव्य एडिनबर्ग का किला ओलंपिक मशाल का एक पड़ाव होगा. एडिनबर्ग को यूनेस्को की साहित्यिक हेरिटेज शहर में शामिल किया गया है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    16 जून- 29वां दिन- गेटशेड, इंग्लैंड. न्यू-कैसल के पास बने इस शहर में समकालीन मूर्तिकला का एक बेहतरीन उदाहरण देखने को मिलता है. 'एंथनी गॉर्मलेज़ एंजेल ऑफ द नॉर्थ' नाम से बनी इस मूर्ति को बनाने में 200 टन स्टील का इस्तेमाल किया गया है और इसके पंखों का विस्तार 54 मीटर है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    16 जून- 29वां दिन- हैडरियान्स वॉल, हाउसस्टीड्स, इंग्लैंड. रोमन शासक हैडरियान के शासन काल 122 ई. में बनाया गया ये रोमन साम्राज्य की सबसे मजबूत दीवार है. इसकी लंबाई 120 किमी है. आज भी इसका एक हिस्सा मौजूद है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    21 जून- 34वां दिन- विंडरमेयर, इंग्लैंड. झीलों के इस शहर को पार करने के लिए ओलंपिक मशाल को वॉटरहेड से बाउनेस तक एक स्टीमर में ले जाया जाएगा.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    28 जून- 41वां दिन- नॉटिंघम. रॉबिन हुड की कहानियों के लिए मशहूर है. ऐसा कहा जाता है कि रॉबिन हु़ड शेरवुड के जंगलों में रहा करते थे और अमीरों से धन से चुराकर गरीबों में बांट दिया करते थे. नॉटिंघम कैसल से ही ब्रिटिश गृहयुद्ध की शुरुआत हुई थी.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    30 जून- 43वां दिन- ब्लैग कंट्री लिविंग म्यूज़ियम, डडली, इंग्लैंड. ये शहर ब्रिटेन के पारंपरिक कारीगरों की याद में बसाया गया है. यहां की इमारतों को शिल्पकारों ने पुनर्जीवित किया है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    1 जुलाई- 44वां दिन- स्ट्रैटफोर्ड, इंग्लैंड. लगभग 800 साल पुराने इतिसास को अपने में संजोए ये शहर को विलियम शेक्सपीयर की जन्मस्थली के तौर पर जाना जाता है. यहां विलियम शेक्सपीयर की याद में रॉयल शेक्सपीयर कंपनी की स्थापना की गई है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    7 जुलाई- 50 वां दिन- केंब्रिज, इंग्लैंड. दुनियाभर में प्रतिष्ठित केंब्रिज यूनिवर्सिटी यहीं है. ओलंपिक मशाल यहां पहुंचने के बाद, ट्रिनिटी कॉलेज में होने वाले प्रतिष्ठित 'ग्रेट कोर्ट रन' में भाग लेगी. ग्रेट कोर्ट रन को 1981 में बनी फिल्म चैरियट्स ऑफ फायर में भी दिखाया गया था.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    9 जुलाई- 52वां दिन- ऑक्सफोर्ड, इंग्लैंड. अपनी समृद्ध इतिहास, विरासत और विंस्टन चर्चिल की जन्मस्थली के तौर पर ऑक्सफोर्ड पूरी दुनिया में मशहूर है. चर्चित हैरी पॉटर फिल्मों में भी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को लोकेशंस के तौर पर दिखाया गया है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    12 जुलाई- 55वां दिन- स्टोनहेंज, विल्टशायर, इंग्लैंड. ऐसा माना जाता है कि पत्थरों के इस समूह का निर्माण 4,000 से 5,000 साल पहले किया था जिसे 1986 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल किया गया था.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    15 जुलाई- 58वां दिन, पोर्ट्स माउथ, इंग्लैंड.बंदरगाहों के इस शहर की खोज 1180 में की गई थी. ये जगह दुनिया के कई ऐतिहासिक घटनाओं का केंद्र रही है, जिनमें प्रमुख है दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला द्वारा लड़ी गई अंतिम ट्रैफालगर की लड़ाई और फ्रांस के नॉरमैंडी में की गई सैनिक कार्रवाई.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    18 जुलाई- 61वां दिन- डोवर, इंग्लैंड. अपनी सफेद टीलों और दुनिया भर में नांवों की सबसे व्यस्त बंदरगाह के तौर पर मशहूर डोवर को 'गेट-वे टू ब्रिटेन' भी कहा जाता है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    26 जुलाई- 64वां दिन- लंदन, इंग्लैंड. इस दिन ओलंपिक मशाल अपने लंबे सफर से होते हुए आखिरकार लंदन पहुंच जाएगी. लंदन पहुंचने के बाद अगले छह दिनों तक ये मशाल वहां के कई इलाकों से होते हुए 'बरोह ऑफ वेस्टमिन्सटर' पहुंचेगी. यहीं ब्रिटेन की संसद और बिग टॉवर मौजूद है.
  • लंदन ओलंपिक की मशाल की यात्रा
    27 जुलाई- 70वां दिन- ओलंपिक स्टेडियम, स्ट्रैटफोर्ड, पूर्वी लंदन. ओलंपिक पार्क के दक्षिण में बने ओलंपिक स्टेडियम में लंदन ओलंपिक 2012 के लिए एथलेटिक्स और पैरालंपिक एथलेटिक्स प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. इस स्टेडियम का निर्माण सिर्फ तीन साल में छोटे से अंतराल में किया गया है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.