प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

जरदारी के पत्र से चिश्ती की रिहाई में मदद

सुप्रीम कोर्ट ने पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद खलील चिश्ती को पाकिस्तान जाने की इजाजत दे दी है.

खलील चिश्ती 81 वर्ष के हैं और उन्हें पिछले महीने ही अजमेर की जेल से जमानत पर रिहा किया गया था.

खलील चिश्ती पर साल 1992 में राजस्थान के अजमेर शहर में हत्या का आरोप लगा था लेकिन 31 जनवरी 2011 को ही उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई.

डॉक्टर खलील चिश्ती की वकील कविता श्रीवास्तव से बीबीसी संवाददाता अमरेश द्विवेदी ने बातचीत की. सुनिए पूरी बातचीत.