टेम्स नदी पर होने वाले समारोह की झलक

 शुक्रवार, 1 जून, 2012 को 11:02 IST तक के समाचार

डायमंड जुबली: टेम्स नदी पर होने वाले नौका आयोजन का आनंद लीजिए.

  • डायमंड जुबली

    रॉयल जुबली बेल्स: कम से कम आठ विशेष रॉयल जुबली घंटियों को नदी के उपर तैरते हुए एक नाव की टॉवर में लगाया जाएगा. इनमें से सबसे बड़ी घंटी को एलिजाबेथ कहा जाता है और इसका वजन करीब 50 किलो है. अन्य घंटियों के नाम राजशाही परिवार के अन्य सदस्यों राजकुमार फिलिप, चार्ल्स, एंड्रयु, विलीयम और हेनरी पर होगा.

  • डायमंड जुबली

    इस मौके पर टेम्स नदी के दोनों किनारों पर सेल टॉल जहाजों की श्रृंखला खड़ी की जाएगी जो लंदन पुल से वैपिंग के चेरी बागान तक जाएगी. इन 56 जहाजों में कुछ युद्धपोत भी शामिल किए जाएंगे, इनमें एमेजन नाम की 127 साल पुरानी नाव और 1969 में इस्तेमाल में लायी जाने वाली सुहाली नौका को भी शामिल किया जाएगा.

  • डायमंड जुबली

    द मैथ्यू ऑफ ब्रिस्टल: ट्यूडर मर्चेंट जहाज का ये प्रतिरूप ब्रिटेन के राजा हेनरी-7 के शासन काल के दौरान इस्तेमाल होती थी. इस जहाज को बटलर व्हार्फ पर प्रदर्शित किया जाएगा जहां कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि बैठेंगे.

  • डायमंड जुबली

    टीनैशियस: 'हर कोई समान है' का नारा देने वाली ये जहाज वर्ष 2000 में बनाई गई थी. इसकी खासियत ये है कि शारीरिक रुप से सक्षम और शारीरिक तौर पर अक्षम लोग इसे एक समान चला पाएंगे. इसके चालक दल में शारीरिक रुप से सक्षम और अक्षम दोनों ही तरह के लोगों को शामिल किया गया है और जो लोग व्हीलचेयर का इस्तेमाल करते हैं उनके लिए अलग से केबिन बनाई गई है.

  • डायमंड जुबली

    श्रॉपशायर लैड: ए पाथ टू रिकवरी. इस संकरी नाव के चालक दल में 12 सैनिकों को शामिल किया गया है जिनमें से आठ अफगानिस्तान, इराक और अन्य युद्ध की मैदानों में घायल हुए हैं. ये लोग उत्तरी श्रॉपशायर से लंदन पहुंचने के लिए लगातार तीन सप्ताह नदियों पर यात्रा करेंगे. इस नाव के पीछे-पीछे एक और छोटी नाव कार्यक्रम स्थल तक आएगी.

  • डायमंड जुबली

    पैसेंजर बोट्स: सभी के लिए!

    ये कार्यक्रम में शामिल 67 यात्री नावों में से एक नौका होगी. इसका नाम क्लीफटन कासल है. इस नाव के साथ चार और नावें शामिल होंगी जिनका आमतौर पर टेम्स नदी में पर्यटन के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

  • डायमंड जुबली

    नैरो बोट्स एंड बार्जेस: स्वर्णिम इतिहास.

    एक समय में ब्रिटेन में एक जगह से दूसरी जगह तक सामान पहुंचाने का काम करने वाली करीब 60 मालवाहक जहाज 3 जून को टेम्स नदी पर यात्रा करेंगी और इस समारोह का हिस्सा बनेंगी. इन जहाजों का इस्तेमाल बड़े मालवाहक जहाजों से समुद्र तट तक सामान पहुंचाने के लिए होता था.

  • डायमंड जुबली

    मोटरबोट्स एंड प्लेज़र क्राफ्टस: इस आयोजन में शामिल करने के लिए देशभर की नौका क्लबों से 60 मोटरबोट को मंगवाया गया है. इनमें खास है, शेकन नॉट स्टर्ड नाम की नाव जिसे जेम्स बॉन्ड सीरीज की फिल्म द वर्ल्ड इज नॉट एनफ के, शुरुआती दृश्य में फिल्माया गया था. इसमें कीनिया के हाईकमिश्नर सवार होंगे.

  • डायमंड जुबली

    द अलास्का: रॉयल क्नेक्शन.

    1883 में बनाई गई ये पोत टेम्स नदी में चलने वाली सबसे पुरानी जहाज है. वर्ष 2009 में अलास्का को राजशाही सवारी बनाई गई थी जब ब्रिटेन की महारानी इसमें बैठकर बत्तखों का करतब देखने आयीं थीं.

  • डायमंड जुबली

    फायरबोट्स: द मैसी शॉ एंड मोर.

    लंदन के अग्निशमन दस्ते के सबसे चर्चित नावों में से एक द मैसी शॉ को भी इस पैजेंट में शामिल किया जाएगा. अब रिटायर हो चुकी इस नौका ने डंक्रिक के गहरे पानी से करीब 500 सैनिकों को बाहर निकालकर उन्हें तट पर लगी बड़े नावों तक पहुंचाने का काम किया था और नौका के झंडे से घायल सैनिकों की मरहम पट्टी की गई थी.

  • डायमंड जुबली

    फोर्स वेसल्स: वॉर हीरो.

    इस मौके पर 140 की संख्या में ऐतिहासिक पोत महारानी एलिजाबेथ के सम्मान में टेम्स नदी में नौकायान करेंगे.

    ये वो जहाज होगें जिनका द्वितीय विश्वयुद्ध में बड़ा योगदान रहा है, इनमें एयर सी रेसक्यू, एयर फोर्स रेसक्यू, ब्रितानी सेना और राजशाही नौसेना शामिल है जो उन 22 नावों की सूची में शामिल थे जिन्होंने समुद्र पर 13 हजार हवाई सैनिकों की रक्षा की थी.

  • डायमंड जुबली

    टग्स, स्टीमर्स, लाइफबोट्स.

    ब्रिटेन की महारानी के सम्मान में आयोजित इस कार्यक्रम में विभिन्न तरह के टग बोट्स, स्टीमर और जीवन रक्षक नौकाओं को शामिल होंगे. इनमें व्हेलडेल नाम की टग-नौका भी होगी जिसका निर्माण 1959 में किया गया था और इसका इस्तेमाल योर्कशायर की खदानों से कोयला लाने के लिए किया जाता था. इस टग-बोट को 1997 में यॉर्कशायर के वॉटरवेज म्यूज़ियम लेकर इसकी मरम्मत की थी.

  • डायमंड जुबली

    डंक्रिक लिटिल शिप्स.

    इस मौके पर राजशाही दल के ठीक पीछे 45 डंक्रिक नावों को तैनात किया जाएगा.ये नाव उन 700 निजी पोतों में से कुछ ही हैं जिन्होंने 1940 में डायनामो अभियान के तहत डंक्रिक से 385,000 ब्रितानी, फ्रांसिसी और बेल्जियन सैनिकों को बचा निकालने में सफलता हासिल की थी.

  • डायमंड जुबली

    रॉयल एस्कॉर्ट बोट्स, हेराल्ड्स एंड फैनफेयर.

    राजशाही जहाजों की श्रृंखला की सुरक्षा में बड़ी संख्या में नावें चलेंगी. इनमें स्पीरिट ऑफ चार्टवेल, पूर्व शाही नाव ब्रिटैनिया और कई सहायक नाव शामिल होगी. इन नौकाओं की महारानी के पूर्व शाही नाविकों का दल चलाएगा जिन्हें यॉटीज कहा जाता है.

  • डायमंड जुबली

    विंसटन चर्चिल हैवनगोर.

    इस आयोजन में शाही पार्टी की अगुवाई हैवनगोर नाम की नाव करेगी. ये वही नाव है जिसपर 1965 में ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री सर विंसटन चर्चिल के ताबूत को उनकी अंत्येष्टी के लिए टॉवर पायर से फेस्टिवल पायर के लिए ले जाया गया था.

  • डायमंड जुबली

    द रॉयर बार्ज: द स्पिरिट ऑफ चार्टवेल.

    डायमंड जुबली उत्सव के दौरान ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ और उनके पति एडिबर्ग के राजकुमार फिलिप फूलों से सजी नौका, द स्पिरिट ऑफ चार्टवेल में सवार होकर शाही बागीचे की तरफ से आएंगे.

  • डायमंड जुबली

    कयाक्स एंड ड्रेगन बोट: पैडल पॉवर.

    इस शाही आयोजन में करीब 80 समुद्री कयाक जहाज देशभर के डोंगी नावों का प्रतिनिधित्व करेंगे. इस ऋंखला में करीब 15 ड्रैगन नावों को भी शामिल किया जाएगा जिन्हें खासतौर पर सजाया जाएगा. इन डोंगी नावों की शुरुआत करीब ढाई हज़ार साल पहले चीन में हुआ था.

  • डायमंड जुबली

    ट्रडिश्नल एंड मॉडर्स रोअड बोट्स.

    इस आयोजन के दौरान 188 रोविंग बोट महारानी एलिजाबेथ के सम्मान में टेम्स नदी पर तैरते हुए नजर आएंगी. इनमें कटर्स, कॉर्निश पायलट, रेसिंग गिग्स, स्किफ्स, लॉन्ग बोट, गोंडल्स, लाइफबोट्स, कयाक्स, ड्रैगन बोट्स और शैलॉप शामिल होंगे. ये सभी रोविंग बोट महारानी को सलामी देंगे.

  • डायमंड जुबली

    ग्लोरियाना: रॉयल बार्ज.

    90 फीट लंबी रॉयल रो-बार्ज ग्लोरियाना नौका विहार करने वाली ब्रिटेन की सबसे बड़ी नाव है. इसका निर्माण खासतौर पर इस आयोजन के लिए किया गया है और ये कार्यक्रम के दौरान 1 हज़ार नावों के बेड़े की अगुवाई करेगा. इस नाव को राजकुमार चार्ल्स के निजी बागीचे में उगाए गए अखरोट के पेड़ों के लकड़ियों से बनाया गया है. इस नाव नाम भले ही रॉयल बार्ज रखा गया है लेकिन इसमें महारानी एलिजाबेथ सवार नहीं होंगी.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.