लंदन की 'ब्लैक कैब' टैक्सी का सफर

 गुरुवार, 30 अगस्त, 2012 को 16:52 IST तक के समाचार

तस्वीरों में लंदन की काली टैक्सी

  • आने वाले महीनों में लंदन की मशहूर काले रंग की टैक्सी की छवि में बदलाव होने वाला है. 15 साल से पुरानी टैक्सियों की जगह नए डिज़ाइन की निसान गाड़ियां लाई जाएंगी. ये बदलाव शहर के उत्सर्जन के नियमों की वजह से हो रहा है और लंदन की काली टैक्सियों के इतिहास में इससे पहले भी ऐसे कई बदलाव हो चुके हैं
  • इस तस्वीर में दिख रही हैनसेम कैब की फोटो 1910 में रीजंट स्ट्रीट पर ली गई थी और ये एडवर्डियन युग में लोकप्रिय थी.
  • वर्ष 1925 तक मोटर से चलने वाली टैक्सी आ गई जिसका डिज़ाइन घोड़े से खिंचने वाली हैंसम कैब की तरह था
  • दशकों से टैक्सियां लंदन की सड़कों का अभिन्न हिस्सा रही हैं. ये तस्वीर 1937 की है जिसमें रॉयल सेलर्स डाटर्स होम की लड़कियों का एक समूह टैक्सी में बकिंघमशर के बर्नहम बीचस जा रहा हैं
  • द्वितीय विश्व युद्ध के बाद टैक्सी की मांग बढ़ गई जिसके चलते मॉरिस और ऑस्टिन जैसी कंपनियों ने नए मॉडल लॉच किए. वर्ष 1947 में पहली मॉरिस ऑक्सफोर्ड आई, लेकिन वर्ष 1948 में लॉन्च हुई ऑस्टिन एफएक्स-3 ज्यादा लोकप्रिय हुई.
  • इस तस्वीर में अमरीकी पॉप गायिका डेबी हैरी 1977 में एफएक्स-4 मॉडल के साथ देखी जा सकती हैं. ये मॉडल सन् 1958 में बाज़ार में आया था और 90 के दशक तक ये सड़कों पर देखा जाता था.
  • नई टैक्सियां बना रही निसान कंपनी का कहना है कि उसकी एनवी 200 मॉडल 'टीएक्स मॉडल की टैक्सियों के लिए पहली असली चुनौती' है. इस मॉडल में ईंधन की खपत कम होती है और कॉर्बन का उत्सर्जन कम होता है. साथ ही इसके एक बिजली से चलने मॉडल की भी योजना है. निसान की गाड़ी में पुरानी ऑस्टिन टीएक्स गाड़ी के कुछ फ़ीचर के साथ ही कुछ नए फ़ीचर भी हैं

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.