नकली, पर असली से कम नहीं

 सोमवार, 1 अक्तूबर, 2012 को 18:31 IST तक के समाचार
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    वर्ष 2004 में हुई एक मोटरसाइकल दुर्घटना में डेब्रा बेविलएक्वा की एक टांग चली गई थी. उन्होंने 2010 में विशेष तौर पर तैयार एक कृत्रिम टांग लगवाई. उनका कहना है कि दूसरों की तरह वो इसे छिपाने के बजाय अब खुद चल कर बाहर जाती हैं. (सभी तस्वीरें: थ्री डी सिस्टम्स कॉरपोरेशंस)
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    डेब्रा की जैसी टांग तैयार करने वाले एक हड्डियों के सर्जन के साथ काम कर रहे डिजाइनर स्कॉट समिट का कहना है कि उनकी कोशिश होती है कि लोगों को फिर से वैसा ही बनाया जाए जैसा वो अपना अंग खोने से पहले थे.
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    इस तरह के अंग तैयार करने के लिए पहले उसके खोल या कवर की थ्री डी प्रिंटिंग होती है. समिट बताते हैं कि उन्होंने बहुत से अंग तैयार किए हैं जिनके खोल सजावटी और धातु से बने होते हैं. जाहिर ये बहुत मजबूत होते हैं. समिट को इस काम में बहुत मजा आता है.
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    समिट का कहना है कि वो कृत्रिम अंग लगवाने वालों से बात करते हैं और उनकी पसंद के बारे में पूछते हैं कि उन्हें किस तरह का अंग लगवाना है.
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    चैड क्रिटेनडेन एक खिलाड़ी हैं जिन्हें 10 साल पहले कैंसर के कारण अपनी टांग गंवानी पड़ी. उन्होंने अपने लिए खास तौर से डिजाइन टांग बनवाई है ताकि वो फुटबॉल भी खेल सकें.
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    समिट की टीम ने सैनिकों को भी कृत्रिम टांगें मुहैया कराई हैं. वो बताते हैं, “उन लोगों को ऐसी चीजें पसंद आती हैं जिनमें बहुत एनर्जी हो क्योंकि वो 20 से 25 साल के बीच होते हैं. इस उम्र में आपमें बहुत ऊर्जा होती है.”
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    मोटरसाइकल हादसे में अपनी टांग गंवाने वाले जेम्स को कुछ ऐसा चाहिए था जिस पर वो अपनी पसंद का टैटू बनवा सकें और जो उनकी हार्ले डेविडसन मोटरसाइकल भी मुआफिक हो.
  • कृत्रिम टांग, फोटो गैलरी, फोटो
    समिट की टीम की बनाई कृत्रिम टांग में 185 ग्राम से ज्यादा भारी नहीं होता है, जो एक मोबाइल फोन के वजन के बराबर है. (सभी तस्वीरें: थ्री डी सिस्टम कॉर्पोरेशन)

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.