प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

अमरीका में ऑनलाइन वोटिंग पर छिड़ी बहस

अमरीका में राष्ट्रपति चुनावों से ठीक पहले आए सैंडी तूफान ने कई इलाकों की व्यवस्था को बुरी तरह से प्रभावित किया है.

न्यूजर्सी के गवर्नर क्रिस क्रिस्टी एक निर्देश जारी कर बेघर हुए लोगों को इलेकट्रॉनिक वोट देने की सुविधा देने को कहा है.

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग की सुविधा पहले उन अमरीकी नागरिकों को मिलता आया है जो या तो परदेस में रहते हैं या फौज में नौकरी करते हैं.

लेकिन इस बार इस निर्देश के साथ ये सुविधा उन इलाकों में रह रहे लोगों को भी देने की बात कही गई जहां अभी तक बिजली दोबारा चालू नहीं पो पाई है.

विशेषज्ञों के मुताबिक ऑनलाइन वोटिंग के ज़रिए राष्ट्रपति का चुनाव संभव नहीं है. क्योंकि यहां चुनाव देश के राष्ट्रपति का होना है किसी सेलेब्रेटी का नहीं.

इसका विरोध करने वालों को लगता है कि उन्हें अत्यंत सावधान रहने की ज़रुरत है क्योंकि ये सुरक्षित माध्यम नहीं है. उन्हें इसमें घपला होने का भी संदेह है. ये लोग कोलंबिया का उदाहरण देते हैं जहां ऐसे प्रयोग असफल रहे.

लेकिन जो लोग इसके पक्ष में हैं उन्हें लगता है कि 21वीं सदी के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि इसमें लोगों की सहभागिता बढ़ेगी.

वे पूछते हैं कि इस बात की क्या गारंटी है कि जो चुनाव अब तक होते आए हैं उनमें धांधली नहीं हुई है.