ऐसी भी दिखती है आतिशबाज़ी

 शुक्रवार, 16 नवंबर, 2012 को 13:33 IST तक के समाचार
  • ओटावा में हुए एक अंतरराष्ट्रीय आतिशबाज़ी आयोजन में कनाडा के फोटोग्राफर डेविड जॉनसन ने अपने कैमरे के साथ कुछ अलग तरह का कमाल दिखाया. उन्होंने पटाखों से निकलने वाली तरह तरह की रोशनी को कैमरे में कैद किया.
  • इस नई तकनीक के तहत डेविड पटाखों से निकली रोशनी को कैमरे में कैद करते हुए 'फोकस' से लगातार अलग तरह के प्रयोग करते हैं और इसका नतीजा हैं ये बेमिसाल तस्वीरें.
  • एक नज़र में ये तस्वीरें आतिशबाज़ी की नहीं लगतीं और यही डेविड की फोटेग्राफी का कमाल है. वो कहते हैं, '' पहले मैं रोशनी को कैद करने के लिए 'एक्सपोज़र' सेट करता हूं और जब आतिशबाज़ी की रोशनी खत्म होने को हो तब फोकस के साथ कुछ खिलवाड़ करता हू. इससे इस तरह की तस्वीर बनती है.''
  • इन तस्वीरों के ज़रिए डेविड ने आतिशबाज़ी को लेकर हमारे मन में जो तस्वीर उभरती है उसे बदलने की कोशिश की है. यानी आतिशबाज़ी अब रंगी बिरंगी चकाचौंध के अलावा खूबसूरत
  • जॉनसन की इस तस्वीर में रंग भी है, आकार भी और रोशनी का अद्भुत कमाल भी.
  • डेविड इस तकनीक के ज़रिए रोशनी के कमाल की इस्तेमाल समुद्री जीवों की आकृतियां बनाने में भी कर चुके हैं.
  • कैमरे की तकनीक से पटाखों की रोशनी को धुंधला किया जा सकता है और इससे अक अलग तरह की तस्वीर उभरती है.
  • पटाखे
    जॉनसन तस्वीरों और रोशनी के इस खेल से पिछले तीन साल से जुड़े हैं. वो कहते हैं कि अलग तरह की फोटोग्राफी करना मेरा शौक है और इस उम्मीद में कि कहीं भी कुछ भी अलग और बेहतर मिल सकता है मैं लगभग हर जगह अपना कैमरा लेकर जाता हूं.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.