नोकिया का लूमिया 925- तस्वीरों में

नोकिया ने विंडोज़ पर चलने वाले अपने स्मार्टफ़ोन लूमिया का नया वर्ज़न- लूमिया 925 लंदन में लाँच किया है. लूमिया 925 से वायरलेस चार्जिंग को हटा दिया गया है, जिससे यह लूमिया 920 के मुकाबले हल्का हो गया है.

नोकिया ने लूमिया का कैमरा भी बदला है और कंपनी का दावा है कि यह तकनीक फ़ोन में पहली बार इस्तेमाल की जा रही है. लूमिया के नए मॉडल की बिक्री जून में यूरोप और चीन में शुरू हो जाएगी और इसके बाद इसे अमरीकी बाज़ार में उतारा जाएगा.

नोकिया ने लूमिया 925 को लूमिया 920 का “नया अवतार” बताया है. लूमिया 920 भी बाज़ार में मौजूद रहेगा.

इस पर लूमिया 920 की तरह स्नेपड्रेगन एस4 प्रोसेसर और 2,000 एमएएच की बैट्री पुराने जैसे ही है. लेकिन 16 जीबी की इंटरनल स्टोरेज क्षमता पुराने फ़ोन के मुकाबले आधी है. लूमिया 925 का 32 जीबी स्टोरेज वाला संस्करण वोडाफ़ोन के लिए ख़ास तौर पर निकालने की योजना है

लूमिया 925 की स्क्रीन में कोई बदलाव नहीं है और यह 4.5 इंच की ही है हालांकि नया एमोलेड डिस्पले लूमिया 920 के आईपीएस आधारित डिस्पले से बेहतर है. एक और बदलाव मेटल फ्रेम है जो सिर्फ़ सफ़ेद, काले या ग्रे रंगों में उपलब्ध होगा.

लूमिया 925 का मुख्य कैमरा पुराने वाले की ही तरह 8.7 मेगापिक्सल का रेज़ोल्यूशन और “फ़्लोटिंग लैंस” इमेज स्टेबिलाइज़िंग तकनीक का इस्तेमाल करता है.

लेकिन कैमरे में भी एक बदलाव है. इसका ऑप्टिकल सिस्टम छह-तहों वाले लेंस से लैस है. इमेज सेंसर तक पहुंचने से पहले रोशनी छह सतहों से गुज़रती है, जो उसे बेहतर बनाने में मदद करते हैं. इससे पहले बहुत अच्छे स्मार्टफ़ोनों में ज़्यादा से ज़्यादा चार या पांच तहें होती थीं.

इन सुधारों के साथ नोकिया उन आलोचनाओं का जवाब दे सकता है जिनमें लूमिया 920 की तस्वीरों को सैमसंग गैलेक्सी एस4 और आईफ़ोन5 के मुकाबले बहुत हल्की बताया जाता है.

हालांकि लूमिया 925 में एक विशेषता की कमी है जो इसके जैसे ही एक अन्य फ़ोन लूमिया 928 में मौजूद है- ज़ेनॉन फ़्लैश. इसके बजाय वह कम क्षमता वाली एलईडी तकनीक का इस्तेमाल करता है.

नोकिया स्मार्ट कैम नाम का एक नया एप फोटो खींचने के कई तरीके उपलब्ध करवाता है. इनमें मोशन फ़ोकस भी शामिल है जो तस्वीर के विषय को चमका देता है और पृष्ठभूमि को धुंधला कर देता है, जिससे ऐसा लगता है कुछ चल रहा है.