प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

नालंदा विश्वविद्यालय का नया रूप

दुनिया भर के छात्रों को छह सौ सालों से अधिक समय तक ज्ञान देने वाले नालंदा विश्विद्यालय आज एक खंडहर है.

कहते हैं कि ग्यारह सौ तेरानबे में इसकी नौ मंज़िला लाइब्रेरी में जब बख़्तियार खिलजी के सैनिकों ने आग लगाई तो वहाँ इतनी किताबें थीं कि महीनों आग सुलगती रही.

उसी नालंदा विश्वविद्यालय का पुराना गौरव वापस लौटाने की, उसे इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी बनाने की कोशिश का जायज़ा लिया रुपा झा ने.