ये धुआँ धुआँ सा क्यों फैला है...