प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'हमलोग तो मोदी को जानते भी नहीं थे'

गुजरात के अहमदाबाद में 2004 में एक कथित फ़र्ज़ी मुठभेड़ में मारी गई मुंबई की 19 वर्षीय इशरत जहां के परिवार का कहना है कि उन्हें तो पहले दिन से यक़ीन था कि उनकी बेटी पूरी तरह निर्दोष है लेकिन अब सीबीआई ने अदालत में चार्ज शीट दाख़िल कर भारत की न्याय प्रक्रिया में उनके विश्वास को और बढ़ा दिया है.

बीबीसी संवाददाता इक़बाल अहमद ने इशरत जहां के परिवार उनकी मां शमीम कौसर और छोटी बहन मुसर्रत जहां से विशेष बातचीत की.