प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

क्लीमेंट एटलीः अंडमान निकोबार द्वीप समूह भारत का हिस्सा है

15 अगस्त 1947 को भारत की आज़ादी से पहले क्या हो रहा था? बीबीसी हिंदी के लिए 1997 में मधुकर उपाध्याय ने 'पचास दिन पहले, पचास साल बाद' नाम से रिपोर्टें बनाई थीं जिसमें सिलसिलेवार ढंग से आज़ादी के पहले की घटनाओं का ज़िक्र था.

इस सीरीज में जानिए 14 जुलाई 1947 की घटनाओं के बारे में.

माउण्ट बेटेन, गांधी, नेहरु, जिनकिंस और जिन्ना सभी चिंतित थे. सीमा आयोग की रिपोर्ट के आने के बाद 15 अगस्त के आसपास उनको भारी हिंसा की आशंका थी. जम्मू में दस अख़बारों के प्रकाश पर रोक लग गई.