प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

पिताजी को पता था खेलूंगा नहीं तो पढ़ूंगा नहीं: सचिन

  • 10 अक्तूबर 2013

1992 में सचिन ने बीबीसी हिंदी सेवा के विजय राणा को जब ये इंटरव्यू दिया था तब वो बारहवीं में पढ़ रहे थे. इंटरव्यू में एक ज़बर्दस्त आत्मविश्वास सुना जा सकता है सचिन का. अपने शतकों के बारे में, लॉर्ड्स के मैदान के बारे में और अपने परिवार के बारे में सचिन क्या सोचते थे शुरुआती दौर में सुनिए उनसे इस लंबे इंटरव्यू में.