तस्वीरों में: नेताओं की ख़ुशी और ग़म का मूड

वसुंधरा राजे

राजस्थान विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को ऐतिहासिक जीत दिलाने वाली राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के चेहरे पर जीती की खुशी को साफ़-साफ़ पढ़ा जा सकता है. वसुंधरा के नेतृत्व में भाजपा ने राजस्थान में शानदार प्रदर्शन करते हुए विधानसभा की 200 सीटों में से 163 सीटों पर विजय पाई है. भाजपा की आंधी में कांग्रेस को वहाँ केवल 21 सीटों से ही संतोष करना पड़ा है.

विधानसभा चुनाव में मिली शानदार सफलता के बाद तीसरी बार मध्य प्रदेश की कुर्सी संभालने जा रहे शिवराज सिंह चौहान भोपाल में पार्टी नेता अनंत कुमार और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर के साथ जीत का जश्न मनाते हुए. भाजपा को राज्य की 230 सीटों वाली विधानसभा में 165 सीटें मिली हैं.

विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि उनकी पार्टी इस हार की समीक्षा करेगी. रविवार को चुनाव के नतीजे आने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने ख़ुद को आम लोगों से जोड़ा. लेकिन कांग्रेस ऐसा नहीं कर पाई. उन्होंने कहा कि आप से सीख लेते हुए कांग्रेस पार्टी अपने आप को आम लोगों से जोड़ेगी. उन्होंने हार स्वीकार करते हुए कहा कि इस हार के बाद भी कांग्रेस के पास एक बार फिर उठ खड़े होने का माद्दा है और कांग्रेस एक बार फिर उठी खड़ी होगी.

दिल्ली विधानसभा के चुनाव में भी भाजपा ने अच्छा प्रदर्शन किया है. 70 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा को 31 और उसकी सहयोगी शिरोमणी अकाली दल को एक सीट मिली है. पार्टी ने दिल्ली विधानभा का चुनाव डॉक्टर हर्षवर्धन के नेतृत्व में लड़ा. जीत के बाद समर्थकों से घिरे डॉक्टर हर्षवर्धन.

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ शुरू किए गए सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के आंदोलन से आम आदमी पार्टी (आप) का जन्म हुआ. आप ने दिल्ली विधानसभा चुनाव से राजनीतिक में पदार्पण किया. पहले ही चुनाव में आप ने कांग्रेस को चित कर दिया तो भाजपा को बहुमत से दूर रखा. 70 सीटों वाली दिल्ली विधानसभा में आप को 28 सीटों पर सफलता मिली है. चुनाव में मिली शानदार सफलता की खुशी को पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और कुमार विश्वास के चेहरे पर आसानी से देखा जा सकता है.

चार राज्यों को विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली शानदार सफलता से पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के दावेदार घोषित नरेंद्र मोदी का चेहरा खिला उठा. इस जीत के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली भी कम खुश नज़र नहीं आए.

देश के चार राज्यों के विधानसभी चुनाव में केंद्र में सरकार चला रही कांग्रेस को बुरी तरह पराजय झेलनी पड़ी है. चुनाव परिणाम आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि पार्टी चुनाव परिणामों का विश्लेषण कर यह पता लगाने की कोशिश करेगी कि आख़िर हार का कारण क्या है. चित्र में कांग्रेस को मिली करारी हार से चिंतित नज़र आ रही हैं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी.

विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली शानदार सफलता के बाद भाई मिठाई तो बंटनी ही थी. उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में भाजपा समर्थक लड्डू बांटने निकल पड़े. भाजपा समर्थकों ने पटाखें फोड़कर और मिठाइयां बांट कर शानदार जीत का जश्न शानदार तरीके से मनाया.

दिल्ली में कांग्रेस को मिली हार के बाद मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का चेहरा कुछ यूं उतर गया. पार्टी को मिली करारी हार के साथ-साथ शीला दीक्षित को नई दिल्ली विधानसभा सीट पर आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने 25 हज़ार से अधिक वोटों से हराकर उनके दुख को दोहरा कर दिया. कांग्रेस को विधानसभा में केवल आठ सीटों से ही संतोष करना पड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)