प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'तालिबान से मुश्किल हुई बातचीत'

पाकिस्तान में सरकार की ओर से नामित मध्यस्थों और तालिबान के बीच शांति वार्ता रुक गई है. ऐसा तालिबान के एक गुट के बयान के बाद हुआ है.

इस बयान में कहा गया था कि चरमपंथियों ने पश्चिमोत्तर क़बायली इलाक़े में 23 सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी है. इस बारे में बीबीसी संवाददाता पंकज प्रियदर्शी ने बात की वरिष्ठ पत्रकार और तालिबान से बात करने के लिए सरकार द्वारा गठित समिति के सदस्य रहीमुल्ला यूसुफ़ज़ई से.

यूसुफ़ज़ई ने कहा कि तालिबान की ऐसी हरकतों से उसके साथ बातचीत करना मुश्किल है.