बेटी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

क्या भावुक भाषणों से बचेगी बेटी

क्या भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 'बेटी बचाओ अभियान' वाकई बेटियों को बचा पाएगा? वो दिन कब आएगा जब कन्या के जन्म को लोग वरदान मानेंगे?

क्या सिर्फ़ भावुक भाषणों से लोगों के विचार बदले जा सकते हैं या इसके लिए कुछ ठोस कदम उठाने की ज़रूरत है?

क्या हैं इस विषय पर आपके विचार. यही है इस बार बीबीसी इंडिया बोल का विषय.

इस शनिवार 24 जनवरी को शाम साढ़े सात बजे चर्चा में भाग लेने के लिए मुफ्त डायल करें इन टोल फ़्री नंबरों पर 1800-11-7000 और 1800-102-7001.