भज्जू श्याम
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

भोपाल में हुआ कायाकल्प

मध्यप्रदेश के पाटनगढ़ गाँव में जन्में भज्जू श्याम का कला से नाता इतना ही था की घर की दीवारों पर चित्र बनाते समय जब माँ के हाथ ऊंचाई तक नहीं पहुँचते तो वो उसे पूरा करते थे.

लेकिन कम उम्र में ही भोपाल आने के बाद अपने चित्रकार चाचा के साथ काम करने लगे और जल्द ही अपना मक़ाम हासिल कर लिया.

भज्जू श्याम पर प्रीती मान की विशेष रिपोर्ट.