प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ब्रह्मांड के रहस्य खोजने वाली दूरबीनें

इसरो ने पीएसएलवी-सी30 रॉकेट के ज़रिए एस्ट्रोसेट को पृथ्वी की निचली कक्षा में स्थापित किया है. यह खगोलीय पिंडों के अध्ययन को समर्पित भारत का पहला उपग्रह है.

ऐसे में आइए एक नज़र डालते हैं दुनिया में हो रहे कुछ इनोवेशन्स पर जिससे खगोलशास्त्री काफ़ी उत्साहित हैं.

दुनिया के मौजूदा टेलीस्कोप ने ब्रह्मांड को लेकर हमारी समझ को और बेहतर किया है, साथ ही आकाशगंगा की कुछ अदभुत तस्वीरें भी मुहैया कराई हैं.

मगर अगले एक दशक में कुछ और शक्तिशाली टेलीस्कोप आने वाले हैं जिससे ब्रह्मांड के बारे में बेहतर जानकारी मिल सकेगी.