डोरिस फ्रांसिस
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बेटी की मौत ने दी ज़िंदगियां बचाने की सीख

राजधानी दिल्ली से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर ग़ाज़ियाबाद में एक महिला को सादे लिबास में यातायात को नियंत्रित करते हुए देखा जा सकता है. ये किसी के कहने पर नहीं बल्कि अपनी मर्जी से इस काम को अंज़ाम देती हैं. तभी तो इन्हें 'ट्रैफ़िक हीरोइन' कहा जाता है.

डोरिस फ्रांसिस ने एक सड़क दुर्घटना में अपनी बेटी को खोया. तब से उन्होंने यातायात संचालन को अपना जुनून बना लिया ताकि कोई और अपने चहेतों को सड़क दुर्घटना में न गंवाए.

शुरू में लोगों ने कई सवाल भी उठाए, लेकिन जब वहाँ पर सड़क दुर्घटनाएं रुक गई तो लोगों का कहना था कि ये कोई पागल नहीं है, बल्कि हमारी जान बचाने का काम कर रही है.