प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बच्चे को दी उम्र क़ैद की सज़ा, पर मानी ग़लती

मिस्र ने माना कि उसने चार साल के बच्चे को उम्र क़ैद की सज़ा देकर ग़लती की थी. इस बालक को घातक दंगे में शामिल होने का दोषी पाया गया था.