ओबामा को अपनी टिप्पणी पर खेद

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अफ़्रीकी मूल के एक जाने माने प्रोफ़ेसर की गिरफ़्तारी को लेकर उठे विवाद पर अपनी टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त किया है.

Image caption बराक ओबामा ने कहा कि उन्हें सोच-समझ कर बोलना चाहिए था

राष्ट्रपति ओबामा ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा था, "कैम्ब्रिज पुलिस ने उस व्यक्ति को गिरफ़्तार करके बेवकूफ़ी भरा काम किया जबकि यह स्पष्ट हो चुका था कि वो अपने ही घर में थे."

मैसाच्यूसैट्स राज्य के कैम्ब्रिज शहर की पुलिस यूनियन के प्रतिनिधियों ने राष्ट्रपति से इस टिप्पणी के लिए माफ़ी मांगने को कहा.

प्रोफ़ेसर हैनरी लुई गेट्स की गिरफ़्तारी का ये क़िस्सा उनके शांत उपनगरीय मकान से सीधे ह्वाइट हाउस तक पहुँच जाएगा शायद इसकी उन्होने कल्पना भी नहीं की होगी.

बात बहुत साधारण सी थी. प्रोफ़ेसर गेट्स जब विदेश यात्रा से घर लौटे तो उन्होंने अपने घर का दरवाज़ा फँसा हुआ पाया.

फ़ोन

उसे खोलने के लिए उन्होंने और ड्राइवर ने मिलकर धक्का दिया. पड़ोस की एक महिला ने देखा कि दो काले व्यक्ति ज़ोर-ज़बरदस्ती करके मकान में घुसने की कोशिश कर रहे हैं तो उसने पुलिस को फ़ोन कर दिया.

हालांकि इस घटना के तथ्यों को लेकर विवाद है लेकिन जब पुलिस पहुँची तो उसने प्रोफ़ेसर गेट्स से अपना पहचान पत्र दिखाने को कहा. वो बिगड़ पड़े तो उनसे घर से बाहर आने को कहा गया और उन्हे गिरफ़्तार कर लिया गया.

पुलिस का कहना है कि प्रोफ़ेसर गेट्स पुलिस अधिकारी पर चिल्लाए और उस पर नस्लभेदी होने का आरोप लगाया. बाद में प्रोफ़ेसर गेट्स को बिना किसी अभियोग के रिहा कर दिया गया.

इस घटना ने अमरीका के जन-जीवन में पैठी एक जातीय संवेदनशीलता को उभारा है. अफ़्रीकी मूल के बहुत से अमरीकी इस गिरफ़्तारी को नस्लभेदी मामले के रूप में देखते हैं.

उनका तर्क है कि प्रोफ़ेसर को इसलिए गिरफ़्तार किया गया क्योंकि वो काले हैं. जबकि पुलिस का कहना है कि उन्हे इसलिए गिरफ़्तार किया गया क्योंकि वो चिल्ला रहे थे और अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहे थे.

मुश्किल

लेकिन राष्ट्रपति ओबामा की टिप्पणी ने उन्हे मुश्किल में डाल दिया. पुलिस का कहना है कि उन्हें पूरा मामला जाने बिना ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी.

राष्ट्रपति ओबामा ने ह्वाइट हाउस में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में अपनी टिप्पणी पर खेद व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें शब्दों का चयन सोच-समझ कर करना चाहिए था.

ओबामा ने कहा, "मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि मैंने जिन शब्दों का चयन किया उससे ऐसा आभास मिला जैसे मैं कैम्ब्रिज पुलिस विभाग और सार्जेन्ट क्रोली की निंदा कर रहा हूँ."

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि उनकी टेलीफ़ोन पर सार्जेन्ट क्रोली से बात हो चुकी है. राष्ट्रपति ने उन्हे एक श्रेष्ठ पुलिस अधिकारी और अच्छा व्यक्ति बताया.

अमरीका में अफ़्रीकी और लैटिन अमरीकी मूल के लोगों की जाँच-पड़ताल अपेक्षाकृत अधिक होती है.