करज़ई के घर पर रॉकेट हमला

अफ़गानिस्तान
Image caption नैटो फ़ौजें अब पूरी तरह से चुनावी सुरक्षा पर ध्यान देंगी.

चुनाव के ठीक दो दिन पहले अफ़गानिस्तान की राजधानी काबुल के बाहर एक कार बम धमाका हुआ हैं जिसमें कम से कम तीन लोग मारे गए हैं और साथ ही राष्ट्रपति भवन पर भी रॉकेट दागे गए हैं.

समाचार एजेंसियों का कहना है कि बम हमले में कम से कम तीन लोग मारे गए हैं और कई गाड़ियों में आग लग गई है.

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता का कहना है कि हमले में घायल होनेवालों में तीन उनके कर्मचारी भी हैं.

राष्ट्रपति निवास के एक उप-प्रवक्ता ने कहा है कि वहां हुए रॉकेट हमले में न तो राष्ट्रपति हामिद करज़ई और न ही किसी और को किसी तरह की चोट आई है.

लाखों अफ़गान नागरिक 20 अगस्त को अपने इतिहास के दूसरे चुनाव में भाग लेने की तैयारी कर रहे हैं.

लेकिन तालिबान इस चुनाव के ख़िलाफ़ हैं और उन्होंने लोगों को चेतावनी दी है कि अगर वो मतदान केंद्रों तक गए तो वो अपनी ज़िदगी को ख़तरे में डालेंगे.

नैटो के नेतृत्व वाली फ़ौज का कहना है कि आनेवाले दो दिनों में वो पूरी तरह से चुनावी सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित कर देंगे.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने धैर्य रखने का आह्वान किया है और कहा है कि चरमपंथियों को हराना आसान नहीं होगा और इसमें समय लगेगा.

इस चुनाव में वैसे तो वर्तमान राष्ट्रपति हामिद करज़ई के फिर से वापस आने की संभावना है लेकिन पूर्व वित्तमंत्री अब्दुल्ला अब्दुल्ला उन्हें कड़ा मुक़ाबला दे रहे हैं.

संबंधित समाचार