'ग़ज़ा में युद्ध अपराध हुए हैं'

ग़ज़ा
Image caption ग़ज़ा में दोनों ही पक्षों ने युद्ध अपराध किए हैं.

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि हाल ही में ग़ज़ा में हुए संघर्ष में इसराइली और फ़लस्तीनी दोनों ही पक्षों ने युद्ध अपराध किए हैं.

संगठन की इस आधिकारिक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बात के सबूत हैं कि इसराइली और फ़लस्तीनी सेनाओं ने ग़ज़ा में हुए संघर्ष में वो काम किए जो युद्ध अपराध की श्रेणी में आते हैं.

इस रिपोर्ट के अनुसार जनवरी 2009 में ग़ज़ा में संघर्ष के दौरान इसराइल ने ''सामूहिक सज़ा'' और ''ज़रुरत से अधिक सैन्य बल'' का प्रयोग किया है.

इस दस्तावेज के अनुसार दोनों ही पक्षों ने संघर्ष के दौरान अपराध किए हैं. फ़लस्तीनी पक्ष का कहना है कि इस संघर्ष के दौरान ग़ज़ा में रहने वाले 1400 लोगों की मौत हुई है जबकि इसराइल यह संख्या 1100 के आसपास बताता है.

संयुक्त राष्ट्र की यह रिपोर्ट दक्षिण अफ्रीका के न्यायाधीश रिचर्ड गोल्डस्टोन की अगुआई में लिखी गई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ''ग़ज़ा में संघर्ष के दौरान इस बात के सबूत मिले हैं कि इसराइल ने अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार और अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन किया है.''

रिपोर्ट के अनुसार इसराइल ने जो किया वो न केवल युद्ध अपराध है बल्कि मानवता के ख़िलाफ़ अपराध भी है.

रिपोर्ट में इस बात के भी प्रमाण मिले हैं कि फ़लस्तीनी गुटों ने भी इसराइल पर रॉकेट और मोर्टार हमले किए और ये भी युद्ध अपराध और मानवता के ख़िलाफ़ हमले की श्रेणी में आता है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है