अहमदीनेजाद के बयान की निंदा

अहमदीनेजाद
Image caption अहमदीनेजाद के बयान की व्यापक निंदा हुई है.

अमरीका, ब्रिटेन और जर्मनी समेत लगभग सभी पश्चिमी देशों ने नाज़ियों के हाथों यहूदियों के संहार (होलोकॉस्ट) को झूठ और मिथक बताने के लिए ईरानी राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद की निंदा की है.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यालय व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर कहा है कि अहमदीनेजाद को तथ्यों की जानकारी नहीं है और उनका बयान घृणापूर्ण है.

जर्मनी ने कहा है कि इस तरह के बयान से उसका अपमान हुआ है.

अहमदीनेजाद ने ये बयान तेहरान में एक सालाना रैली में दिए. इस रैली में अहमदीनेजाद विरोधियों की पुलिस के साथ झड़पें भी हुई.

उनका कहना था, "यहूदी शासन की स्थापना के लिए जो भूमिका बांधी गई थी वो ग़लत था. होलोकॉस्ट एक झूठ है. होलोकॉस्ट के दावे को साबित नहीं किया जा सकता."

इस पर व्हाइट हाउस प्रवक्ता रॉबर्ट गिब्स ने कहा, "इस तरह के झूठ को बढ़ावा देने से ईरान विश्व समुदाय से और अलग-थलग होगा."

जर्मनी के विदेश मंत्री फ़्रैंक वाल्टर स्टीनमीयर ने कहा कि वो इस बयान की निंदा करते हैं और भविष्य में भी यहूदी विरोधी भावनाओं का विरोध करते रहेंगे.

ब्रिटेन के विदेश मंत्री डेविड मिलिबैंड ने अहमदीनेजाद के बयान को विद्वेशपूर्ण बताते हुए विश्व समुदाय से इसके ख़िलाफ़ उठ खड़ा होने की अपील की.

संबंधित समाचार