'पुतलों को हिजाब के बगैर न रखें'

ईरान की पुलिस ने दुकानदारों को आगाह किया है कि वे दुकानों के बाहर नुमाइश के लिए रखे महिलाओं के पुतलों (मैनेक्विन) को बिना हिजाब के न रखें.

ये ख़बर इरना समाचार एजेंसी ने प्रकाशित की है. ऐसा ईरान के लोगों को पश्चिमी देशों के प्रभाव से बचाने के लिए किया गया है.

2005 में जब महमूद अहमदीनेजाद पहली बार ईरान के राष्ट्रपति बने थे तभी से ‘ग़ैर इस्लामी’ बर्ताव को लेकर लोगों को निशाना बनाया जाता रहा है.

इरना के मुताबिक पुलिस ने बयान जारी किया है, “दुकानों के बाहर ऐसे पुतलों को रखना मना है जिनके सिर पर हिजाब न हों.”

संवाददाताओं के मुताबिक पूर्व में भी ऐसे अभियान चलाए गए थे लेकिन वो आमतौर पर गर्मियों के दौरान ही चल पाए थे लेकिन पिछले साल से चल रहा ये अभियान अभी सर्दियों तक जारी है.

इसमें महिलाओं को तंग पतलून पहनने से भी मना किया गया है.

जो लोग पहली बार ड्रेस-कोड का उल्लंघन करते हैं उन्हें आमतौर पर आगाह करके छोड़ दिया जाता है.

लेकिन जो लोग बार-बार ऐसा करते हैं उनके ख़िलाफ़ अदालत में क़दम उठाए जा सकते हैं और उन्हें विशेष मार्गदर्शन कक्षाओं में जाना पड़ता है.

संबंधित समाचार