बीजिंग में उत्तर कोरिया पर चर्चा

हातोयामा-म्युंग
Image caption दक्षिण कोरिया और जापान के नेता उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लागू रखना चाहते हैं.

चीन की राजधानी बीजिंग में मेज़बान देश के आलावा जापान और दक्षिण कोरिया के शीर्ष नेताओं की बैठक हो रही है.

इस शिखर सम्मेलन के एजेंडे में उत्तर कोरिया का विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम सबसे ऊपर है.

जापान और दक्षिण कोरिया इस बात पर ज़ोर दे रहे हैं कि उत्तर कोरिया को तब तक कोई सहायता न दी जाए जब तक वह परमाणु हथियार कार्यक्रम ख़त्म नहीं कर दे.

लेकिन संवाददाताओं का कहना है कि इस मुद्दे पर दोनों देशों को चीन का समर्थन मिलना मुश्किल लग रहा है.

उत्तर कोरिया ने संकेत दिए हैं कि वह छह पक्षीय वार्ता में शामिल होने के लिए तैयार है लेकिन पहले अमरीका के साथ सीधी वार्ता के नतीजे को देखना ज़रूरी होगा.

शुक्रवार को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ली म्युंग बाक और जापानी प्रधानमंत्री यूकियो हातोयामा ने कहा था कि जब तक उत्तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम को ख़त्म करना शुरू नहीं करता है तब तक उसके ख़िलाफ़ लगे प्रतिबंध जारी रहने चाहिए.

दोनों नेताओं में सहमति बनी कि वे परमाणु निरस्त्रीकरण के बाद उत्तर कोरिया को एकमुश्त सहायता पैकेज देने की पेशकश करेंगे.

वे इस प्रस्ताव पर चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ से भी बात करेंगे.

जियाबाओ ने हाल ही में उत्तर कोरिया का दौरा किया था और वहां के शीर्ष नेता किम जोंग इल से मुलाक़ात की थी.

उत्तर कोरिया इसी साल अप्रैल में छह पक्षीय वार्ता से अलग हो गया था और उसके भूमिगत परमाणु परीक्षण करने के बाद इलाक़े में तनाव बढ़ गया था.

संबंधित समाचार