चीन में नौ लोगों को फांसी

शिनकियांग
Image caption शिनकियांग चीन का सबसे अशांत इलाक़ा है

एक चीनी अधिकारी का कहना है कि चीन के पश्चिमी प्रांत शिनकियांग में जुलाई में हुए दंगे के अभियुक्त नौ लोगों को फांसी दे दी गई है.

ग़ौरतलब है कि स्थानीय उरुमकी समुदाय और चीन में प्रभुत्वशाली हान गुट के बीच जुलाई में हुए दंगे में 197 लोगों की मौत हो गई थी.

चीन की सरकारी समाचार सेवा ने इस बारे में और कोई जानकारी नहीं दी है. अभी यह पता नहीं चल पाया है कि यह फांसी कब और कहां दी गई.

स्थानीय सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक यह सज़ा सुप्रीम कोर्ट की समीक्षा के बाद दी गई है.

फांसी दिए गए लोगों को हत्या और अन्य सज़ा का दोषी पाया गया.

फांसी दिए गए लोगों के नाम से पता चलता है कि इनमें आठ लोग उरुमकी समुदाय के हैं जबकि एक हान समुदाय का है.

जुलाई में जो दंगा हुआ था वह चीन के इतिहास में भयावह था. हान लोगों का आरोप था कि दंगे में शामिल लोगों को प्रशासन पकड़ने में विफल रहा है.

हालांकि मानवाधिकार गुटों का कहना है कि जिन अभियुक्तों को सज़ा दी गई उनमें से कुछ मामले में सुनवाई महज पाँच घंटे ही चली. साथ ही सुनवाई ठीक ढंग से नहीं हुई.

शिनकियांग चीन का सबसे अशांत इलाक़ा है जहाँ चीनी सेना की काफ़ी मौजूदगी है.

हाल ही में चीनी सुरक्षा बलों ने शिनकियांग में 'अपराधियों को ख़त्म' करने के लिए 'कड़ी कार्रवाई' करने का निश्चय किया था.

उरुमकी में ज़्यादातर मुस्लिम समुदाय के लोग रहते हैं. उनका कहना है कि इस इलाक़े में हान समुदाय के लोगों ने आकर अपना डेरा डाल दिया है और अच्छी नौकरियों पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

संबंधित समाचार