चिट्ठी की नीलामी 32 लाख डॉलर में

जॉर्ज वाशिंगटन की  चिट्ठी
Image caption 1787 में लिखी जॉर्ज वाशिंगटन की चिट्ठी न्यू यॉर्क के क्रिस्टीज़ नीलाम हुई.

न्यूयॉर्क के मशहूर नीलामी घर क्रिस्टीज़ में अमरीका के प्रथम राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन की लिखी चिट्ठी 32 लाख डॉलर में बिकी. ये क्रिस्टीज़ के इतिहास में किसी पत्र की नीलामी की अब तक की सबसे बड़ी क़ीमत है.

जॉर्ज वाशिंगटन ने यह चिट्ठी 1787 में अपने भतीजे को लिखी थी जिसमें उन्होंने अमरीका के नए क़ानून को लागू किए जाने की अपील की थी.

क्रिस्टीज़ ने बताया कि यह चिट्ठी बुशराड वाशिंगटन के वंशजों के पास पिछले सौ साल से ज़्यादा समय से थी.

लोकसत्ता

इसके पहले 2002 में जॉर्ज वाशिंगटन की एक चिट्ठी आठ लाख 34 हज़ार 500 डॉलर में नीलम हुई थी.

नीलाम हुई चिट्ठी में जॉर्ज वाशिंगटन ने 1787 में संविधान को मान्यता देने के लिए वर्जीनिया स्टेट कन्वेंशन में एक प्रतिनिधि के रूप में शामिल हो रहे अपने भतीजे बुशराड वाशिंगटन को लिखा था कि अमरीका के तत्कालीन स्वतन्त्र प्रान्तों को एकजुट करने में दो माह पुराने नए अमरीकी संविधान को लागू किया जाना ज़रूरी है.

इस पत्र में वह लिखते हैं, "इस संविधान के अंतर्गत सत्ता जनता के हाथ में ही होगी."

इसके साथ क्रिस्टीज़ में 19वीं सदी में अमरीकी कवि एडगर एलन पो की पहली पुस्तक भी रिकॉर्ड छह लाख 62 हज़ार 500 डॉलर में नीलम हुई.

1827 में छपी 40 पृष्ठों की इस पुस्तक 'टेमरलेन' की 12 प्रतियां ही उपलब्ध हैं.

संबंधित समाचार