विक्रम बुद्धि को 57 महीने की क़ैद

जॉर्ज बुश
Image caption विक्रम पर जॉर्ज बुश को धमकी भरे ईमेल भेजने का आरोप था

अमरीका में शिकागो की एक अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश को धमकी भरे संदेश भेजने के मामले में भारतीय इंजीनियर विक्रम बुद्धि को 57 महीने यानी चार साल नौ महीने क़ैद की सज़ा सुनाई है.

अदालत ने सज़ा पूरा होने के बाद तीन साल तक विक्रम बुद्धि को निगरानी में भी रखने का फ़ैसला सुनाया है.

विक्रम बुद्धि 10 दिनों के अंदर शिकागो की अदालत के फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील कर सकते हैं.

विक्रम बुद्धि पर आरोप था कि उन्होंने वर्ष 2006 में तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज बुश, उप राष्ट्रपति डिक चेनी और उनकी पत्नियों को धमकी वाले संदेश भेजे थे.

आरोप

उन पर ये भी आरोप था कि इस संदेश में उन्होंने अमरीकी ठिकानों पर बम हमले की भी धमकी दी थी.

विक्रम बुद्धि को वर्ष 2006 में गिरफ़्तार किया गया था. अप्रैल 2006 से ही वे जेल में हैं, इसलिए उम्मीद की जा रही है कि उनकी सज़ा में से ये अवधि निकाल ली जाएगी.

सज़ा सुनाए जाने के समय विक्रम बुद्धि ने अदालत के सामने अपना पक्ष ख़ुद रखा. क्योंकि उन्होंने अपने वकील को हटा दिया था.

उन्होंने पहले ये भी दावा किया था कि उनके साथ न्याय नहीं हो रहा है. विक्रम बुद्धि ने यह भी स्वीकार किया था कि वकील से उन्हें सहायता नहीं मिली.

संबंधित समाचार