अमरीका ने साइबर सुरक्षा के लिए नियुक्ति की

Image caption अमरीका के सरकारी कंप्यूटर प्रणाली पर रोज़ाना लाखों बार हमले की कोशिश होती है

अमरीका के व्हाइट हाउस ने पूर्व बुश प्रशासन सलाहकार को अमरीका का नया साइबर सुरक्षा संयोजक बनाया गया है.

हावर्ड श्मिड्ट माइक्रोसॉफ़्ट और वेबसाइट ईबे के पूर्व प्रमुख सुरक्षा अधिकारी रह चुके हैं.

उनकी नियुक्ति ओबामा के सात महीने पहले किए गए वादे के बाद हुई है जिसमें उन्होंने कहा था कि वो अमरीका सरकार और ग़ैरसरकारी कंप्यूटर नेटवर्क की साइबर हमलों से सुरक्षा के लिए काम करेंगे.

इस नियुक्ति की उम्मीद काफ़ी समय से थी.

सात महीने पहले राष्ट्रपति ओबामा ने साइबर सुरक्षा की समीक्षा के नतीजे जारी किए थे.

उन्होंने कहा था कि वो गंभीर आर्थिक और राष्ट्रीय सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए एक संयोजक नियुक्त करेंगे.

अहम मसला

तभी से दर्जनों संभावित उम्मीदवारों से बातचीत हुई लेकिन एजेंसियों के बीच टकराव की वजह से कई लोग इस नौकरी को लेकर उत्साहित नहीं थे.

साइबर सुरक्षा के बारे में कोई एक सुरक्षा एजेंसी ज़िम्मेदार नहीं है, इसी वजह से नए संयोजक को काफ़ी बातों का ध्यान रखना होगा.

हॉवर्ड श्मिड्ट की नियुक्ति से अमरीकी रक्षा मंत्रालय और आंतरिक सुरक्षा से जुड़ी एजेंसियों को काफ़ी मदद मिलेगी.

साइबर सुरक्षा के प्रमुख के तौर पर हावर्ड श्मिड्ट रोज़ाना राष्ट्रपति ओबामा से मिल सकेंगे.

हॉवर्ड श्मिड्ट को सैन्य, सरकारी नौकरियों और कंपनियों के बारे में तजुर्बा है.

व्वाइट हाउस की वेबसाइट पर लगे एक वीडियो संदेश में उन्होंने ओबामा प्रशासन की प्राथमिकताओं का ज़िक्र किया है.

उनका कहना है, '' हमारा उद्देश्य है अमरीकी नेटवर्क की सुरक्षा के लिए एक नई, संपूर्ण रणनीति का विकास करना, भविष्य में होने वाली किसी साइबर घटना का संगठित जवाब देना, सरकारी और ग़ैरसरकारी भागीदारी को मज़बूत करना, मित्र राष्ट्रों और भागीदारों के साथ सहयोग और नई तकनीक का विकास करना.''

माना जाता है कि अमरीका के सरकारी कंप्यूटर प्रणाली पर रोज़ाना लाखों बार हमले की कोशिश होती है.

हाल ही में किए गए नए अध्ययनों में पाया गया है कि विदेशी गुप्तचर संस्थाओं खासकर चीन से ख़तरा बढ़ रहा है.

संबंधित समाचार