पुर्तगाल में समलैंगिक विवाह क़ानून बना

पुर्तगाल मे समलैंगिक
Image caption पुर्तगाल मे समलैंगिकों का जश्न

पुर्तगाल की संसद ने रूढ़िवादियों के कड़े विरोध के बावजूद समलैंगिक विवाह को क़ानूनी मान्यता देने वाले विधेयक को पारित कर दिया है.

अब इस क़ानून को सिर्फ राष्ट्रपति की सहमति मिलना बाक़ी है, जिसके बाद ये क़ानून लागू हो जाएगा.

इस ऐतिहासिक फ़ैसले के साथ ही रोमन कैथलिक देश पुर्तगाल अब यूरोप का छठा देश हो गया है, जहां समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता मिल गई है.

इससे पहले स्पेन, स्वीडन, नीदरलैंड्स, बेल्जियम, और नॉर्वे में समलैंगिक विवाह को क़ानूनी मान्यता मिल चुकी है.

वामदलों का विरोध

इस विधेयक पर बहस शुरू होते ही सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के प्रधानमंत्री हौसे सोक्रेटीज़ ने सांसदों से समर्थन की अपील करते हुए कहा कि, इस विधेयक को कानून बना दिए जाने से समलैंगिकों के साथ हो रहे अन्याय का अंत हो जाएगा.

उन्होंने कहा, “ये क़ानून बनते ही बेवजह हो रहे अन्याय का अंत हो जाएगा इतने लंबे समय तक लोग एक ऐसी तक़लीफ़ को झेलते रहे हैं, जो समाज में व्यप्त पूर्व धारणाओं, असहिष्णुता और असंवेदनशीलता का नतीजा थी.”

सत्ताधारी सोशलिस्ट पार्टी के प्रधानमंत्री सोक्रेटीज़ के भरपूर समर्थन के बावजूद इस क़ानून के अंतर्गत समलैंगिक जोड़े, यूरोप के कुछ अन्य देशों की तरह बच्चा गोद नहीं ले सकेंगे.

विधेयक में समलैंगिक जोड़ों के बच्चा गोद लेने पर लगाई गई पाबंदी के कारण सोशिलिस्टों को वामदलों के विरोध का भी सामना करना पडा.

इसी कारण बहस कई बार काफ़ी गर्मा उठी थी, लेकिन अंत मे सोशिलिस्ट पार्टी को सफलता मिल गई.

संबंधित समाचार