अमरीकी बैंकों ने ग़लती मानी

अमरीकी बैंक
Image caption आर्थिक संकट के दौरान अमरीका के कई बैंकों पर संकट आ गया था

अमरीका के चार सबसे बड़े बैंक प्रमुखों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने 2008 में शुरु हुए आर्थिक संकट की गंभीरता को कम आंका.

अमरीकी कांग्रेस के समक्ष दो दिनों तक चली जनसुनवाई के दौरान बैंक आफ अमरीका, जेपी मार्गन, मार्गन स्टैनले और गोल्डमैन सैक्स के प्रमुखों ने कहा कि उन्हें अपने ग़लत फ़ैसलों पर खेद है.

लेकिन बैंक प्रमुखों ने यह भी कहा कि उन्होंने इस नुक़सान की भरपाई के लिए बोनस, वेतन बढ़ाने के साथ साथ काफ़ी त्याग किया है .

बैंक प्रमुखों ने कहा कि उन्होंने जनता को आर्थिक संकट से उबारने के लिए पैसा ब्याज सहित वापस किया.

इसके पहले अमरीकी केंद्रीय नियामक संस्था ने घोषणा की थी कि 2009 में अमरीका में सौ बैंक डूब गए.

वर्ष 1992 के बाद से ऐसा पहली बार हुआ है कि एक ही साल में इतनी बड़ी संख्या में बैंक डूब गए हैं.

पर्यवक्षकों का मानना है कि कई बैंक 'हाउसिंग कर्ज़' से पैदा हुई समस्या से अब भी जूझ रहे हैं.

अमरीका में 'फ़ेल' होने वाले अधिकतर बैंक छोटे बैंक हैं जिन्हें वित्तीय संकट के कारण कर्ज़ न लौटाए जाने की स्थिति में ख़ासा घाटा हुआ है.

संबंधित समाचार