सभी 90 यात्रियों के मारे जाने की आशंका

Image caption इथोपियाई एयरलाइन का ये विमान बोइंग 737 था

लेबनान की राजधानी बेरूत के पास सोमवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए इथोपियन जेट विमान में सवार सभी यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है.

इस दुर्घटना की सही वजहों का पता नहीं चल सका है लेकिन लेबनानी अधिकारियों का कहना है कि विमान के चालक ने कंट्रोल टॉवर से जारी किए गए मार्ग परिवर्तन के निर्देश का पालन नहीं किया था.

अधिकारियों ने बताया है कि दुर्घटना से पहले बेरूत के कंट्रोल टॉवर से विमान को एक अलग हवाई रास्ता सुझाया गया था ताकि विमान खराब मौसम से बच सके.

लेकिन विमान चालक ने इन निर्देशों का पालन नहीं किया था. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि विमान चालक कहीं ऐसा कर पाने में असमर्थ तो नहीं था.

लेबनान के परिवहन मंत्री गाज़ी अरीदी ने कहा कि विमान को रास्ता बदलने के निर्देश दिए गए थे लेकिन विमान एक बहुत तेज़ और अजीब से रास्ते पर जाता दिखा.

दुर्घटना

सोमवार को ख़राब मौसम के कारण उड़ान भरते ही एक यात्री विमान दुर्घटनाग्रस्त होकर भूमध्यसागर में गिर गया.

इथोपियाई एयरलाइन के इस विमान में 80 यात्री और चालकदल के नौ सदस्य सवार थे. ये विमान इथोपिया की राजधानी आदिस अबाबा जा रहा था.

सोमवार को कुछ शव बरामद किए गए थे और बाकी शवों की तलाश का काम किया जा रहा है.

बेरूत हवाई अड्डे के अधिकारियों का कहना है कि इस विमान के उड़ान भरने के आधे घंटे के अंदर राडार के संपर्क टूट गया था.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विमान के समुद्र में गिरने से पहले उन्होंने आसमान में आग का गोला सा देखा. विमान का मलबा लेबनान के तट पर देखा गया.

फ्लाइट ईटी 409 में सवार यात्री इथोपिया की राजधानी आदिस अबाबा जा रहे थे और इसमें अधिकतर लेबनानी और इथोपियाई नागरिक थे. इथोपियन एयरलाइंस ने एक बयान जारी कर कहा है कि यात्रियों में तुर्की, फ़्रांस, रूस, कनाडा, सीरिया और इराक़ के भी नागरिक शामिल थे.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि लेबनानी परिवहन मंत्री और अन्य अधिकारियों का कहना है कि बचाव अभियान चल रहा है लेकिन किसी के जीवित बचने के बारे में कोई सूचना नहीं है.

ग़ौरतलब है कि हज़ारों इथोपियाई नागरिक लेबनान में घरेलू कामकाज करते हैं.

संबंधित समाचार