मून ‘बलात्कार को हथियार’ बनाने से चिंतित

बान की मून
Image caption संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने अफ़्रीकी देशों की स्थिति पर चिंता जताई

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने अफ़्रीकी नेताओं से कहा है कि वो युद्ध के दौरान 'बलात्कार को एक हथियार' की तरह इस्तेमाल किए जाने को लेकर बेहद व्यथित हैं.

बान की मून ने इथोपिया में चल रहे अफ़्रीकी संघ के सम्मेलन में कहा कि उन्होंने एक विशेष प्रतिनिधि की नियुक्ति की है जो संघर्ष के क्षेत्रों में महिलाओं और बच्चों के ख़िलाफ़ हिंसा को रोकने के प्रयास तेज़ करेंगे.

यूरोपीय संघ के पूर्व उपाध्यक्ष मार्गोट वालस्टोर्म को ये ज़िम्मेदारी सौंपी गई है.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने अफ़्रीकी देशों में ग़ैर संविधानिक तरीकों से सरकार बदलने पर भी चिंता जताई.

उन्होंने सत्ता में बने रहने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाने के लिए भी नेताओं को चेतावनी दी.

कुछ समय पहले अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी अपनी घाना यात्रा के दौरान कहा था कि अफ़्रीकी देशों को युद्ध, भ्रष्टाचार और अन्य समस्याओं से मुक्ति दिलाने के लिए स्थानीय सरकारों को ज़िम्मेदारी से काम करना होगा.

अमरीकी राष्ट्रपति ने दो टूक शब्दों में कहा था कि यदि अफ़्रीका अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से सम्मान और निष्पक्षता की अपेक्षा करता है, तो पहले उसे अपना घर ठीक करना होगा.

संबंधित समाचार