चार ब्रितानी सांसदों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले दर्ज

ब्रितानी संसद
Image caption इन सांसदों में तीन हाउस ऑफ़ कॉमन्स और एक हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स के हैं

ब्रितानी संसद के चार सदस्यों के ख़िलाफ़ भत्ते के कथित ग़लत इस्तेमाल के मामले में आपराधिक कार्रवाई की जा रही है. इस मुद्दे पर ब्रिटेन में जनता के बीच ख़ासा गुस्सा है.

ब्रिटेन में अभियोजन विभाग के निदेशक कीर स्टार्मर ने कहा कि सत्ताधारी लेबर पार्टी के तीन सांसदों - इलियट मोर्ले, डेविड चेयटोर, जिम डेवाइन और कंज़रवेटिव पार्टी के लॉर्ड हानिंगफ़ील्ड के ख़िलाफ़ चोरी के क़ानून के तहत मुकदमा चलाया जाएगा.

इस क़ानून के मुताबिक यदि किसी को दोषी पाया जाता है तो उसे सात साल तक की जेल की सज़ा हो सकती है.

चारों सांसदों ने इन आरोपों का खंडन किया है और मुकदमे के दौरान अपनी बात रखेंगे.

इस बारे में जानकारी पिछले साल मई में सार्वजनिक हुई थी और पुलिस ने कुछ मामलों की जाँच की थी.

पार्टियों की कार्रवाई

कीर स्टार्मर का कहना था, "फ़िलहाल पर्याप्त सबूत नहीं हैं जिनके आधार पर एक अन्य सांसद लॉर्ड क्लार्क को सज़ा दिला पाने के बारे में बात की जा सके."

इन सांसदों को गिरफ़्तार नहीं किया जाएगा लेकिन 11 मार्च को वेस्टमिंस्टर की अदालत में पेश होने के लिए बुलाया जाएगा.

सत्ताधारी लेबर पार्टी के प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन का कहना है कि वे इन घटनाओं पर बहुत गुस्सा हैं.

उनका कहना था, "हमने कुछ महीने पहले लेबर पार्टी की ओर से इन लोगों के उम्मीदवार बनने के अधिकार के बारे में कुछ क़दम उठाए थे. ये बहुत भी गंभीर आपराधिक आरोप हैं. सभी आपराधिक आरोपों की जाँच होगी और अब ये काम अदालत का है."

कंज़रवेटिव पार्टी का कहना था कि लॉर्ड हानिंगफ़ील्ड ने पार्टी के व्यावसायिक मामलों के शैडो प्रवक्ता के पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.