जैक्सन के डॉक्टर पर मुक़दमा दर्ज

माइकल जैक्सन
Image caption माइकल जैक्सन की मौत बेहोशी की अधिक दवाई लेने से हुई थी.

अमरीका में लॉस एंजेलिस प्रशासन ने पॉप स्टार माइकल जैक्सन के पूर्व डॉक्टर के ख़िलाफ़ उनकी ग़ैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है.

हालाँकि डॉक्टर कॉनरेड मरे ने अदालत में इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है. लेकिन अगर उन्हें माइकल जैक्सन की ग़ैर इरादतन हत्या का दोषी पाया जाता है तो उन्हें चार साल जेल की सज़ा हो सकती है.

उनके अदालत पहुंचने से पहले फ़ोटोग्राफ़रों और पत्रकारों की भीड़ लॉस एंजेलिस इंटरनेशनल कोर्ट हाउस के बाहर इकठ्ठा हो गई.

50 वर्षीय माइकल जैक्सन की मौत उनके घर में पिछले साल जून में हुई थी.

उनकी मौत के बाद यह निष्कर्ष निकला था कि मौत का मुख्य कारण बड़ी मात्रा में दर्द कम करने वाली बेहोशी की दवाएं थी.

का़नूनी लड़ाई

डॉक्टर मरे बीते साल इन्हीं दिनों में माइकल जैक्सन के निजी डॉक्टर नियुक्त हुए थे. उन दिनों माइकल जैक्सन संगीत की दुनिया में दोबारा वापसी के लिए संगीत कार्यक्रमों की तैयारी कर रहे थे.

गत अगस्त में डॉक्टर मरे ने एक हलफ़नामें में कहा था कि जैक्सन को नींद ना आने की शिकायत भी थी जिसके इलाज के लिए वो उन्हें प्रोपोफ़ोल दवाई दे रहे थे.

मगर उन्होंने इस बात पर बल दिया था कि उन्होंने माइकल जैक्सन को ऐसी कोई दवाई नहीं दी जिसकी वजह से उनकी मौत हो सकती थी.

एक हफ़्ते से यह अटकलें लग रही थीं कि उनके ख़िलाफ़ ग़ैर इरादतन हत्या के आरोप लग सकते हैं.

लेकिन सरकारी वकील ने कहा था कि डॉक्टर मरे के ख़िलाफ़ कार्यवाही सोमवार तक के लिए टाल दी गई है.

इस दौरान डॉक्टर मरे के साथ सरकारी वकीलों की बात चल रही थी ताकि डॉक्टर मरे का समर्पण इस तरह हो कि उन्हें हथकड़ियां लगा कर ग़िरफ़्तार ना किया जाए.

मगर आरोप लगने से पहले डॉक्टर मरे के वकील एड शर्नोफ़ ने कहा था कि वो कड़ी का़नूनी लड़ाई के लिए तैयार हैं.

संबंधित समाचार