क्रांति के समर्थन में विशाल प्रदर्शन

अहमदीनेजाद
Image caption राष्ट्रपति अहमदीनेजाद ने कहा कि यूरेनियम का 20 प्रतिशत संवर्धन कर ईरान परमाणु ताक़तों की पाँत में आ गया है

ईरान में इस्लामी क्रांति की 31वीं सालगिरह पर राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद ने राजधानी तेहरान में लाखों लोगों की एक रैली को संबोधित किया. इस मौक़े पर देश के अलग-अलग हिस्सों में सरकार विरोधियों ने भी प्रदर्शन किए हैं.

राजधानी के आज़ादी चौक पर सरकार समर्थकों को संबोधित करते हुए अमहदीनेजाद ने कहा कि यूरेनियम को 20 प्रतिशत तक संवर्धित कर ईरान परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्रों की पाँत में आ गया है.

उन्होंने कहा, "मैं आपलोगों को बताना चाहता हूँ कि परसों यूरेनियम को 20 प्रतिशत संवर्धित करने का काम शुरू कर दिया गया है. मैं आपको बुलंद आवाज़ में सूचित करना चाहता हूँ कि, ऊपर वाले तेरा शुक्रिया, हमारे मुख्य परमाणु वार्ताकार ने 20 प्रतिशत संवर्धित ईंधन का उत्पादन शुरू होने की घोषणा की है."

ईरानी राष्ट्रपति ने कहा कि नतांज परमाणु संयंत्र में यूरेनियम को 80 प्रतिशत तक संवर्धित करने की सुविधा है, लेकिन ईरान वैसा नहीं करेगा क्योंकि उसकी आवश्यकता नहीं है. उल्लेखनीय है कि परमाणु बम में उपयोग के लिए यूरेनियम को उतना ज़्यादा संवर्धित करना होता है.

राष्ट्रपति अहमदीनेजाद ने लोगों को पश्चिमी प्रभुत्ववाद के ख़िलाफ़ आगाह किया.

'सरकार विरोधियों की पिटाई'

दूसरी ओर विपक्ष ने आरोप लगाया है कि जगह-जगह ईरानी पुलिस और सरकार समर्थकों ने सड़कों पर उतरे सरकार विरोधियों की पिटाई की है. पिछले राष्ट्रपति चुनाव में अहमदीनेजाद के ख़िलाफ़ उम्मीदवार रहे महदी करुबी ने आरोप लगाया है कि सरकार समर्थक हथियारबंद दस्ते बसीज के लोगों ने उन्हें भी पीटा है.

पूर्व राष्ट्रति मोहम्मद खातमी की सरकार समर्थकों के हाथों पिटाई की रिपोर्टें भी आ रही हैं.

बृहस्पतिवार को ईरानी क्रांति की 31वीं सालगिरह के दौरान यों तो सरकार ने आम लोगों के लिए इंटरनेट को बंद कर रखा था, लेकिन फिर भी यूट्यूब जैसी वेबसाइटों के ज़रिए कुछ वीडियो क्लिप ईरान से बाहर आए हैं. इनमें से कइयों में विपक्ष समर्थकों को सरकार के ख़िलाफ़ नारे लगाते दिखाया गया है.

विपक्ष समर्थक कुछ वेबसाइटों के अनुसार दूसरे शहरों से विरोध प्रदर्शनों के लिए तेहरान आने की कोशिश कर रहे सरकार विरोधियों को जगह-जगह सुरक्षा बलों का सामना करना पड़ा.

संबंधित समाचार