माओवादियों ने रखी नई शर्त

माओवादी
Image caption माओवादी ऑपरेशन ग्रीन हंट बंद करने की मांग करते रहें हैं.

माओवादियों के प्रवक्ता ने कहा है कि सरकार के साथ बातचीत से पहले जेल में बंद उनके 'राजनीतिक नेताओं' को रिहा किया जाए.

बीबीसी से बातचीत में माओवादी कॉमरेड राजू ने कहा कि वार्ता से पहले पश्चिम बंगाल सरकार बिना किसी शर्त के वेंकेटेश्वर रेड्डी उर्फ तेलगु दीपक को छोड़ें. ये माओवादियों की नई शर्त है.

माओवादियों के प्रवक्ता ने एक अज्ञात स्थान से फ़ोन पर कहा, "अगर सरकार अगले तीन दिनों में ये स्पष्ट नहीं करती है कि संघर्षविराम की पेशकश पर उसकी क्या राय है तो हम शांति के प्रयास छोड़ देंगे और नए सिरे से आक्रामक अभियान शुरु कर देंगें."

कॉमरेड राजू 9734695789 नंबर से कॉल रहे थे. सरकार की ओर से किसी भी तरह की सूचना प्राप्त करने के लिए माओवादियों ने यही नंबर रखा हुआ है.

मंगलवार को पश्चिम बंगाल पुलिस ने माओवादी नेता वेंकेटेश्वर रेड्डी उर्फ तेलगु दीपक को गिरफ़्तार गिया था.

जानकारी के मुताबिक तेलगू दीपक विभिन्न इलाक़ों में जाकर प्रशिक्षण देते थे कि विस्फोटकों का इस्तेमाल कैसे करना है.

पीपल्स लिबरेशन गोरिल्ला आर्मी(पीएलजीए) माओवादियों का छापामार दस्ता है और किशनजी इसके प्रमुख हैं. तेलगू दीपक किशनजी के काफ़ी करीबी हैं. माना जाता है कि दी

हाल के कुछ महीनों में कई माओवादी नेता पकड़े गए हैं. पिछले साल सितंबर में माओवादी नेता कबाड़ गांधी को गिरफ़्तार किया गया था.

जबकि अक्तूबर में पुलिस ने झारखंड को एक पति-पत्नी को पकड़ा था जिनका कहना था कि वे माओवादी नेता हैं.

संबंधित समाचार