यंग ग्लोबल लीडर्स 2010 में कई भारतीय

नंदिता दास
Image caption अभिनेत्री नंदिता दास कई फ़िल्मों में काम कर चुकीं हैं.

वर्ल्ड इकॉनॉमिक फ़ोरम ने यंग ग्लोबल लीडर्स 2010 के लिए कई भारतीयों को चुना है. इसमें राजनीति, फ़िल्म और उद्योग जगत से कई नाम शामिल हैं.

इसमें दुनिया भर से युवा लीडर्स को अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए चुना जाता है.

वर्ल्ड इकॉनॉमिक फ़ोरम एक स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय संस्था है. इसकी स्थापना 1971 में हुई थी. यंग ग्लोबल लीडर्स की स्थापना 2004 में प्रोफेसर क्लॉस श्वाब ने की थी.

यंग ग्लोबल लीडर्स 2010 के लिए भारत से 12 और भारतीय मूल से एक लीडर को चुना गया है.

इनमें से भारतीय राजनीति में उभरती युवा लीडर ग्रामीण विकास राज्यमंत्री अगाथा संगमा और फ़िल्म अभिनेत्री नंदिता दास प्रमुख हैं.

कुछ अन्य नाम

इनके अलावा अबराज कैपिटल के माहानिदेशक अशोक अराम, विंध्या ई-इनफोमीडिया प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ और संस्थापक अशोक गिरी दुर्गेश, यूएसबी सेक्युरिटीज़ की चेयरपर्सन मनीषा गिरोत्रा, नरेद्र मुरकुंबी, संदीप नाइक, संगीथ वर्घिज़, संगीता सिंह, संजीव सन्याल, श्रीराम राघवन, तेजप्रीत सिंह चोपड़ा जैसे उद्योगपति और समाजसेवी शामिल हैं.

अमरीका में रह रहे भारतीय मूल के संजय गुप्ता को भी इस के लिए चुना गया है. संजय गुप्ता एबरएक्सिस बायोसांइस के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट हैं.

यंग ग्लोबल लीडर्स 2010 के लिए पड़ोसी देश पाकिस्तान से पाँच, श्रीलंका, भूटान, बंग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान से एक-एक युवा लीडर भी चुने गए हैं.

दुनिया भर के चुनिंदा लीडर्स को अपने काम को और बेहतर कैसे किया जाए इसके लिए यंग ग्लोबल लीडर्स 2010 एक मंच प्रदान करती है. इसमें दुनिया के असाधारण प्रतिभा वाले युवा लीडर्स को शामिल किया जाता है.

संबंधित समाचार