गुरशन मौत मामले में गिरफ़्तारी

गुरशन सिंह
Image caption तीन वर्ष का था गुरशन

ऑस्ट्रेलिया की पुलिस ने तीन वर्षीय भारतीय बच्चे की मौत के मामले में एक भारतीय को गिरफ़्तार किया है और उसके ख़िलाफ़ मामला भी दर्ज किया है.

गिरफ़्तार भारतीय का नाम गुरसेवक ढिल्लों है. कैनबरा से पत्रकार पल्लवी जैन ने बीबीसी को बताया कि रविवार होने के बावजूद ढिल्लों को अदालत में पेश किया गया और उसे ज़मानत नहीं मिली.

पुलिस ने गुरसेवक पर आपराधिक लापरवाही से हत्या का आरोप लगाया गया है. मंगलवार को उन्हें मेलबर्न के मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किए जाएँगे.

कोर्ट में यह भी बताया गया है कि गुरसेवक भारतीय बच्चे गुरशन सिंह के रिश्तेदार नहीं हैं लेकिन वे वहीं रहते हैं जहाँ गुरशन और उसके माता-पिता रुके हुए थे.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक़ ऑस्ट्रेलिया का अप्रवासी विभाग इस बात की भी जाँच कर रहा है कि गुरसेवक का पासपोर्ट फ़र्जी हो सकता है.

आरोप

लेकिन अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि गुरशन सिंह की मौत कैसे हुई.

अदालत में गुरसेवक पर ये भी आरोप लगाया गया है कि उन्होंने बेहोश गुरशन सिंह को अपनी गाड़ी की डिक्की में बंद किया और तीन घंटे तक गाड़ी चलाते रहे.

फिर उन्होंने बिना ये देखे कि गुरशन ज़िंदा है या नहीं, उसे सड़क के किनारे फेंक दिया.

गुरशन सिंह के माता पिता मेलबर्न में छुट्टियाँ मना रहे थे और यहीं से गुरशन ग़ायब हो गया था.

कुछ घंटों बाद गुरशन का शव उस घर से क़रीब 30 किलोमीटर दूर मिला, जहाँ उनके माता-पिता ठहरे हुए थे.

गुरशन की मां ऑस्ट्रेलिया में पढ़ती हैं और गुरशन सिर्फ़ छह हफ़्ते पहले ऑस्ट्रेलिया आया था.

संबंधित समाचार