नाइजीरिया में फिर भड़की ख़ूनी हिंसा

जॉस मे सैनिक
Image caption जॉस शहर में सड़कों पर सैनिक तैनात है

अफ्रीकी देश नाइजीरिया में मुसलिम और ईसाई समुदाय के बीच फिर हिंसक झड़पें हुई हैं जिनमें सौ से ज़्यादा लोग मारे गए हैं.

बताया जाता है कि मरने वालों में अधिकतर महिलाएं और बच्चे हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक नाइजीरिया के केंद्रीय शहर जॉस शहर से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक गांव डोगो नहावा में लाशों के ढेर देखे गए हैं.

जॉस शहर के अस्पताल के एक डॉक्टर ने रॉयटर्स समाचार एजेंसी को बताया है कि मृतकों को कुल्हाड़ी से मार गया है.

डोगो नहावा के एक निवासी पीटर जैंग के मुताबिक हमलावर गोलियां चलाते हुए गांव में दाख़िल हुए थे, “गोलियां तो लोगों को घरों से बाहर निकालने के लिए चलाई गई थीं. जब लोग घरों से बाहर निकल कर आए तो हमलावरों ने उन्हें कुल्हाड़ियों से मारना शुरू कर दिया.”

जॉस शहर में जनवरी से ही कर्फ्यू लागू है जबकि ईसाई और मुस्लिम समुदाय के बीच गंभीर हिंसा भड़की थी, जिसमें कम से कम दो सौ लोग मारे गए थे और हज़ारों बेघर हो गए थे.

वर्ष 2008 में भी नाइजीरिया में धार्मिक हिंसा भड़की थी जिसमे सैकड़ों लोग मारे गए थे.

डोगो नहावा गांव में स्थिति पर नियंत्रण के लिए सेना भेज दी गई है.

रेड क्रॉस के एक प्रवक्ता ने बताया कि संस्था के सहयताकर्मी हिंसा में घायल हुए लोगों की मदद कर रहे हैं.

एपी समाचार एजेंसी को रेडक्रॉस के प्रवक्ता ने बताया कि इस हिंसा के बाद जॉस शहर से सैकड़ों लोग अपने घर बार छोड़ कर चले गए हैं.

संबंधित समाचार